Published On : Sat, Aug 4th, 2018

किसानों को मिलेगा पेंच का पानी

Advertisement

नागपुर: बारिश के अभाव में धान उत्पादक किसान संकट में आ गए हैं और वे अपने कोटे का पानी पेंच से देने की मांग कर रहे हैं. इस संदर्भ में पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले ने कलेक्टर व सिंचाई विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक ली, जिसमें उन्होंने किसानों के कोटे का पानी उन्हें देने का निर्देश दिया. बैठक में पूर्व विधायक आशीष जायसवाल, सांसद कृपाल तुमाने भी उपस्थित थे.

बैठक में बताया गया कि बारिश के अभाव में धान उत्पादक किसानों ने बुआई ही बंद करनी शुरू कर दी है, जो 50 फीसदी किसानों ने बुआई की है वह भी पानी के अभाव में संकट में हैं.

Advertisement
Advertisement

बैठक में पालकमंत्री ने किसानों के कोटे का पानी पेंच से देने का निर्देश दिया तो अधिकारियों ने बांध में 35 फीसदी पानी होने के चलते पानी छोड़ने में असमर्थता जताई.

इस पर आशीष जायसवाल ने कहा कि जलसंपत्ति प्राधिकरण के आदेशानुसार किसानों के कोटे का पानी छोड़ें. 25 टीएमसी पानी होने के चलते प्राधिकरण के निकषानुसार 50 फीसदी पानी का स्टाक उपलब्ध है.

मांग किए जाने पर रोक नहीं सकते
जायसवाल ने कहा कि पानी वितरण संस्था की मांग के बाद नियमानुसार पानी को रोका नहीं जा सकता. बांध की क्षमता पर टक्केवारी निश्चित न करते हुए महाराष्ट्र के हिस्से का 25 टीएमसी पानी सभी प्रवर्ग को नियमानुसार वितरित करें.

चर्चा बाद पालकमंत्री ने किसानों की फसल बचाने के लिए सकारात्मक कदम उठाने और पानी वितरण संस्थाओं से मांग पत्र लेकर किसानों का पानी छोड़ने का निर्देश विभाग के अधिकारियों को दिया.

अधिकारियों ने भय व्यक्त किया कि अभी पानी छोड़ा तो अक्टूबर में पानी कम होने पर पीने के पानी का संकट पैदा हो जाएगा. पालकमंत्री ने उन्हें कहा कि किसानों को उनके हक के कोटे का पानी कैसे व कब चाहिए यह अधिकार पानी वितरण संस्था का है और मांग के अनुसार पानी छोड़ा जाए.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement