Published On : Wed, Apr 8th, 2020

रेलवे हास्पिटल में दवाईयों का टोटा !

अधिकारियों ने किया दावे से इंकार

नागपुर. रेलवे प्रशासन द्वारा रेलवे हास्पिटल में 2 क्वारंटाइन वार्ड बनाकर हर आकस्मिक स्थिति के दावे किये जा रहे हैं. वहीं, रेलकर्मियों द्वारा इसी हास्पिटल में दवाओं की कमी की बात कही जा रही है. हालांकि इस बारे में पूछने पर अधिकारियों ने इस दावे को सिरे से खारिज कर दिया गया. वहीं, रेलकर्मियों का कहना है कि कोरोना के लिए शारीरिक प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए जरूरी विटामिन सी के अलावा ब्लडप्रेशर जैसी बीमारियों की दवाओं की भी कमी है.

विटामिन सी की टैबलेट उपलब्ध नहीं
कोरोना वाइरस के संक्रमण से बचने के लिए लोगों को विटामिन सी का अधिक से अधिक सेवन करने की सलाह दी जा रही है. ऐसे में रेलवे सुरक्षा बल के महानिदेशक कार्यालय द्वारा आरपीएफ स्टाफ को विटामिन सी की टैबलेट्स का सेवन करने के निर्देश दिये गये. मिली जानकारी के अनुसार, मध्य रेल नागपुर मंडल के रेलवे सुरक्षा बल के वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त कार्यालय की ओर से अजनी रिजर्व लाइन में बनाये गये क्वारंटाइन वार्ड में नियुक्त आरपीएफ सुरक्षाकर्मियों के लिए रेलवे हास्पिटल से इन टैबलेट्स की मांग की गई. यह पत्राचार 3 अप्रैल का है. 4 दिनों के बाद मंगलवार को मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय द्वारा साफतौर पर कह दिया गया कि हास्पिटल में विटामिन सी की टैबलेट्स उपलब्ध नहीं है. इतना ही नहीं, सीएमएस द्वारा उक्त पत्र पर नोटिंग भी कर दी गई. इससे हास्पिटल में दवाओं की कमी का खुलासा हुआ.

जरूरी दवाओं का पूरा स्टाक : ACM राव
हालांकि इस बारे में पूछने पर एसीएम एसजी राव ने कहा कि हास्पिटल में सभी जरूरी दवाओं को पूरा स्टाक है. किसी भी दवा की कमी नहीं है. चूंकि विटामिन सी जैसी टैबलेट अक्सर नहीं मांगी जाती, इसलिए इस प्रकार की दवाओं का स्टाक भी नहीं रखा जाता. इलाज के लिए हास्पिटल में आने वाले मंडल के तहत नियुक्त और रिटायर्ड रेलकर्मियों की संख्या के आधार पर सभी जरूरी दवाईयों उपलब्ध है. हम किसी भी प्रकार की आकस्मिक स्थिति के लिए तैयार है.