Published On : Thu, May 3rd, 2018

केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने सेहत से जुड़े खतरों को देखते हुए पार्टी पॉपर्स पर लगाया बैन

नागपुर: केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने समारोह और कार्यक्रम के दौरान इस्तेमाल होने वाले पार्टी पॉपर्स से स्वास्थ्य को पहुंचने वाले खतरे के मद्देनजर इन पर प्रतिबंध लगा दिया है. इन पॉपर्स से आंखों को नुकसान पहुंचता है और चेहरे पर जख्म होने का खतरा रहता है. दरअसल, पॉपर्स आमतौर पर पार्टीज और दूसरे सेलिब्रेशन में इस्तेमाल होता है जिसके अंदर विस्फोटक होता है. पॉपर के नीचे एक डोरी लगी होती है जिसे खींचने पर यह फट जाता है और तेज आवाज के साथ अंदर भरा कन्फेटी और दूसरी चीजें बाहर आती हैं. मिनिस्ट्री ऑफ इन्वाइरनमेंट, फॉरेस्ट ऐंड क्लाइमेट चेंज के मुताबिक, पॉपर्स के अंदर मौजूद प्लास्टिक ग्लिटरिंग मटीरियल और दूसरे केमिकल्स कम तीव्रता के विस्फोटक होते हैं जिसमें लाल फॉस्फॉरस, पोटैशियम क्लोरेट और पोटैशियम परक्लोरेट भरा रहता है जो इंसान की सेहत के साथ-साथ वातावरण के लिए भी हानिकारक हैं. अगर ये चीजें खाद्य पदार्थों के साथ मिलकर शरीर के अंदर चली जाएं तो आंखों और चेहरे को गंभीर नुकसान हो सकता है.

केंद्रीय प्रदूषण बोर्ड ने अपने ज्ञापन में कहा है कि सभी पार्टी पॉपर्स पर प्रतिबंध लगाया जाता है. सिर्फ कम्प्रेस्ड हवा को बतौर चार्ज और नरम कागज को स्ट्रीमर्स के तौर पर इस्तेमाल करने वाले पॉपर्स के इस्तेमाल की इजाजत होगी. केंद्रीय बोर्ड ने सभी स्टेट पलूशन कंट्रोल बोर्ड्स और पॉल्युशन कंट्रोल कमिटी को निर्देश जारी करते हुए उन्हें यह देखने के लिए कहा कि देशभर में इस बैन का सख्ती से पालन हो. साथ ही इस तरह के खतरनाक पॉपर्स बनाने वाली इंडस्ट्रीज को इसका उत्पादन बंद करने के लिए कहा गया है.