Published On : Mon, Jan 29th, 2018

सीबीएसई ने नेट की परीक्षा में किए बदलाव

CBSE-NET-2017
नागपुर: राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा (नेट) में शामिल होने वाले अभ्यर्थियों के लिए खुशखबरी है. देशभर में सहायक प्रोफेसर की नियुक्ति के लिए अनिवार्य राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा (नेट) में अब केवल दो पेपर होंगे . इस साल जुलाई 2018 से नेट में छात्रों को तीन के बजाय दो पेपर देने होंगे. इसके साथ ही जूनियर रिसर्च फैलोशिप (जेआरएफ) में शामिल होने की उम्र भी बढ़ा दी गई है. पहले 28 वर्ष तक ही जेआरएफ में शामिल हो सकते थे, जबकि इस वर्ष से यह 30 वर्ष होगी. इस फैसले से लाखों छात्र-छात्राओं को राहत मिलेगी.

सीबीएसई ने इस बदलाव की अधिसूचना जारी कर दी है. यूजीसी नेट के निदेशक के अनुसार इस साल आठ जुलाई को देशभर में विभिन्न केंद्रों पर नेट की परीक्षा होगी और इसमें इसमें केवल दो ही पेपर होंगे . पहला पेपर सौ अंकों का होगा. इसमें 50 प्रश्न पूछे जाएंगे . यह पेपर 9.30 से 10.30 बजे तक होगा. दूसरे पेपर में सौ प्रश्न पूछे जाएंगे और यह 11 से एक बजे के बीच होगा . इन दोनों ही पेपर में प्रत्येक प्रश्न दो-दो अकों के होंगे . पहले पेपर से छात्रों की शिक्षण-अनुसंधान अभिरुचि का आकलन किया जाएगा .

इसमें तार्किक क्षमता, विभिन्न सोच आैर सामान्य जागरूकता पर फोकस होगा. दूसरे पेपर में संबंधित विषय के प्रश्न पूछे जाएंगे. ये सभी अनिवार्य होंगे. नेट में अब तक तीन पेपर होते थे और इसमें 175 प्रश्न पूछे जाते थे . इसमें पहले आैर दूसरे में 50-50 और तीसरे में 75 प्रश्न आते थे . ये सभी 350 अंकों के थे, मगर आगामी नेट में तीन सौ अंकों के 150 प्रश्न आएंगे . छह मार्च 2018 से छात्र ऑनलाइन फॉर्म भर सकेंगे . इसमें आवेदन की आखिरी तिथि पांच अप्रैल होगी . मगर ऑनलाइन फीस छह अप्रैल तक जमा हो सकेगी .