Published On : Tue, Oct 5th, 2021

कोयला हेराफेरी प्रकरण में 3 व्यक्तियों पर मामला दर्ज

– कोयला परिवहन पेटी ठेकेदार चोर निकला

नागपुर– वेकोलि से कोराडी पावर प्लांट मे कोयला परिवहन मे करोडों की हेराफेरी प्रकरण में लिप्त 3 व्यक्तियों पर खापरखेडा पुलिस स्टेशन ने मामला दर्ज किया है।इस प्रकरण में लिप्त आरोपियों में मेसर्स:-चंदा एण्ड कोहली कंपनी के किरायेदार ट्रक मालिक छबुनाथ सिंह, चालक संजय शाहू और राजन सिंह का समावेश है।उन पर पर भादवि 420,419,406,109/34,120 दर्ज किया गया है।

Advertisement

खापरखेडा थानाध्यक्ष (पुलिस निरीक्षक) श्रीपुंडलीक भट के मार्गदर्शन में पुलिस उपनिरीक्षक राजेश पिसे ने मुखबिरों का जाल विछाया था। पुलिस उपनिरीक्षक श्रीपिसे के मुताबिक कोयला से लदे संबंधित ट्रक मे बोगस नंबर का स्टीकर चिपकाकर सीधे निजी कोयला टाल मे खाली करवा दिया गया था। गलती से दूसरा ट्रक पावर प्लांट कोराडी में परिवहन किया गया था। दोषी कोयला परिवहन पर कार्यवाही नही होने से पुलिस पर प्रश्न चिन्ह निर्माण होने लगा था। सूत्रों के मुताबिक वेकोलि के गोंडेगांव-नंदोरी ओपन कास्ट कोयला खदानों से पावर प्लांट मे कोयला परिवहन मे पिछले 2-3 सालों से इसी प्रकार कोयला की अफरातफरी करके महानिर्मिती को करोडों का चूना लगाया जा रहा है।

Advertisement

परंतु यहां मुख्य अभियंता प्रकाश खंडारे के पद सूत्रों संभालते ही कोयला तस्करों की नींद हराम होने लगी है। सूत्रों की मानें तो खापरखेडा और कोराडी पावर प्लांट में कोलमिल का रिजेक्ट कोयला के साथ उत्तम दर्जे का कोयला भी बाहर तस्करी किया जा रहा था। इसके लिए सुरक्षा पहरेदारों की अच्छी खासी कमाई हो रही थी।परंतु खापरखेडा पावर प्लांट मे मुख्य अभियंता राजू घुगे और कोराडी पावर प्लांट मे मुख्य अभियंता प्रकाश खंडारे के नेतृत्व में कोयला तस्करों की दाल गलना मुश्किल हैं?

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

 

Advertisement
Advertisement
Advertisement