Published On : Tue, Jul 13th, 2021

सड़कों पर बने अमानक स्पीड ब्रेकर से बाइक सवार हो रहे घायल

सावनेर – हाल ही में बोरुजवाडा से शिव मंदिर छिंदवाडा रोड सावनेर तक सड़क पर डाम्बरीकरण किया गया है साथ ही सड़क में स्पीड ब्रेकर का भी निर्माण भरपुर किया गया है ,परंतु उसमें भी मानक का ख्याल नहीं रखा गया है। स्पीड ब्रेकर में सफेद या पीला पेंट से पट्टी नहीं बनाई गई है। इससे बाइक सवार या वाहन चालकोंं को दिन में दूर से ब्रेकर दिखाई नहीं देते हैं। जिससे अक्सर दुर्घटना की आशंका बनी रहती है।

कायदे से कहीं भी स्पीड ब्रेकर बनाने का नियम नहीं है। बेहद जरूरी होने पर पहले यह मामला जिला यातायात सुरक्षा समिति के पास जाता है और अनुमोदन के बाद ही निश्चित मापदंड के अनुरूप ब्रेकर बनवाए जाते हैं। जो कि बाद में वाहनों चालकों के लिए परेशानी और जानलेवा साबित होता है। दुर्घटना को रोकने के लिए सावनेर शहर से कई जगह पर स्पीड ब्रेकर बनाये गए है परंतु उसका विपरीत ही असर देखने को मिल रहा है । हाल ही में बने स्पीड ब्रेकर से अभी तक कई लोग दुर्घटना ग्रस्त हो कर गंभीर जख्मी हो चुके है । रविवार की रात को स्पीड ब्रेकर के चलते राहुल समुद्रे नामक युवा गंभीर हो गया है

जिसके बाद उसे नागपुर मेडिकल में रेफेर कर दिया गया था । कल रात सावनेर के गिनिग प्रेस के पास में अभिषेक गहरवार नामक व्यक्ती का रात में ना दिखने वाले स्पीड ब्रेकर के चलते बाईक का संतुल बिगड़ गया जिससे वहा दुर्घटना ग्रस्त व गंभीर जख्मी हो गए , उससे कुछ दुरी पर भालेराव स्कूल के सामने दूसरी गाड़ी दुघटना हुई थी । यहां ब्रेकर के आसपास सफेद पेंट नही किया गया है , जिससे चालक जब तक ब्रेकर को देख पाता उससे पहले बाइक उछलकर अनियंत्रित हो जाती हैं। दूर से यहां वाहन चालक को ब्रेकर दिखाई नहीं देता है। आए दिन दुर्घटना की आशंका बनी रहती है । कई दुर्घटनाएं, वाहन अभी भी क्षतिग्रस्त हो रहे है , सड़क पर बने स्पीड ब्रेकर से वाहन अनियंत्रित होकर गिर जाते हैं। वहीं शहर के अंदर कई ब्रेकर तो मानक से अधिक ऊंचे हैं। खास कर इन स्पीड ब्रेकरों से गर्भवती महिलाओं को बहोत तकलीफ होती है । जल्द ही इन स्पीड ब्रेकर पर रेडियम, सफेद या पीले पेंट से पट्टी नहीं बनाई गई है तो इससे आगे और भी कई दुर्घटनाएं बढ़ सकती है ।

मानक स्पीड ब्रेकर बनाने के ये हैं सही नियम
स्पीड ब्रेकर के लिए इंडियन रोड कांग्रेस की गाइडलाइन के अनुसार स्पीड ब्रेकर की अधिकतम ऊंचाई 4 इंच होनी चाहिए। ब्रेकर के दोनों ओर 2.2 मीटर का स्लोप दिया जाए ताकि वाहन स्लो होकर बगैर झटका खाए निकल जाए। 6 से 8 इंच तक ऊंचाई वाले और बगैर स्लोप के ब्रेकर नहीं बनाए जाने चाहिए। चेतावनी चिह्न लगे होने चाहिए। साथ ही ब्रेकर में सफेद या पीले पेंट एवं रेडियम होना चाहिए। संबंधित विभाग जल्द इसपर चर्चा कर इस समस्या का निराकरण करे।

– दिनेश दमाहे, जिला प्रतिनिधि,नागपुर