Published On : Tue, Nov 3rd, 2020

DBT का दूसरा क़िस्त नहीं मिला लाभार्थियों को

– वर्ष 20-21 के लिए डीबीटी पोर्टल अब तक नहीं खुला,महाविद्यालय प्रबंधन सकते में

नागपुर : SC,ST,OBC विद्यार्थियों को समाज कल्याण विभाग के मार्फ़त उच्च शिक्षा के लिए केंद्र/राज्य सरकार DBT के मार्फ़त छात्रवृत्ति देती आ रही.पिछले कुछ वर्षों से राज्य सरकार की आर्थिक स्थिति खस्ताहाल होने से विद्यार्थियों/महाविद्यालयों को इसका लाभ नहीं मिल पा रहा.नतीजा महाविद्यालय प्रशासन अड़चन में आ गई.अब तक वर्ष 2019-20 का दूसरा क़िस्त नहीं दिया गया और तो और वर्ष 2020-21 का DBT PORTAL अबतक OPEN नहीं किया गया.

मालूम हो कि देवेंद्र फडणवीस के मुख्यमंत्री काल से DBT विद्यार्थियों/महाविद्यालयों को 2 किस्तों में दिया जाने लगा.इस हिसाब से वर्ष 2019-20 का दूसरा क़िस्त नहीं दिया गया और तो और वर्ष 2020-21 का DBT PORTAL अबतक OPEN नहीं किया गया.कोरोना काल में अबतक वर्ष 2020-21 के सत्र का 4 माह से ONLINE पढाई भी सतत जारी हैं.इसके एवज में शिक्षकों फिर चाहे कोई भी महाविद्यालय क्यों न हो उन्हें 6-6 माह का पिछले वेतन प्रबंधन ने नहीं दिया इसके बावजूद वे विद्यार्थियों को पढ़ा रहे.

प्रत्येक वर्ष DBT के लिए जुलाई के पहले सप्ताह में PORTAL खुल जाता था.राज्य के समाज कल्याण विभाग मार्फ़त लगभग 2 लाख विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति दी जाती हैं.

महाविद्यालय प्रबंधनों की मांग हैं कि महाविद्यालय संचलन हेतु वर्ष 2019-20 का दूसरा क़िस्त अविलंब दे देने से काफी राहत मिल सकती हैं.
उल्लेखनीय यह हैं कि राज्य सरकार की सम्बंधित विभाग महाविद्यालयों को महाविद्यालय संचलन के लिए LONG TERM LOAN लेने के लिए प्रेरित किया जा रहा और जो LOAN के लिए प्रयास कर रहे उन्हें 10 करोड़ के LOAN के लिए प्रबंधकों को 25 करोड़ की संपत्ति गिरवी रखने हेतु बैंक वाले दबाव बनवा रहे,नतीजा आजतक यह भी मामला उलझा हुआ हैं.