Published On : Sat, May 2nd, 2015

उमरखेड़ में म. बसवेश्वर जयंती मनाई गई

m.basaveshwar jaynti ukd
उमरखेड़ (यवतमाल)। बारहवे शतक के क्रांतीकारक, महान समाज सुधारक, समतावादी आंदोलन के जनक, बारहवे शतक में “अनुभव मंटप” के माध्यम से महिलाओं को समान अधिकार देनेवाले जगत ज्योति म. बसवेश्वर की 910 वी जयंती उमरखेड़ जि. यवतमाल में मनाई गई. जयंती म. बसवेश्वर संघटना, बसव ब्रिगेड, किसान गणेश मंडल, मित्र गणेश मंडल, बसवेश्वर गणेश मंडल, छावा गणेश मंडल, वीरशैव लिंगायत महिला मंडल और उमरखेड़ तालुका के सभी वीरशैव लिंगायत समाज की ओर से मनाई गई. इस दौरान म. बसवेश्वर की प्रतिमा की शहर से शोभायात्रा निकाली गई.

वीरशैव लिंगायत महिला भजनी मंडल, विडुल और उमरखेड़ के पुरुष भजनी मंडल ने ढोल-ताशो के गजर से शोभा यात्रा निकाली. जगह-जगह मान्यवरों ने म. बसवेश्वर की प्रतिमा का पूजन किया. शोभायात्रा महात्मा बसवेश्वर संस्थान बसवलिंग स्वामी मठ, नागचौक, गांधी चौक, खडकपुरा, शहीद चौक, सराफा लाईन, साप्ताहिक बाजार मार्ग से निकालकर म. बसवेश्वर संस्थान में विसर्जित करके प्रसाद बांटा गया.

शोभा यात्रा की सफलता के लिए किसनअप्पा बिचेवार, शंकरअप्पा हिंगमिरे, बबनअप्पा पुरमे, प्रभाकर दुधेवार, गजानन दुधेवार, अशोक पुरमे, प्रभाकर गांजरे, सुनील दगडफोडे, नवदीप बिचेवार, सचिन भोकरे, विशाल ठाकुर, गिरिधर, सोलंके, संतोष बिजोरे, निखिल हिंगमिरे आदि समेत असंख्य कार्यकर्ताओं ने सहकार्य किया.