Published On : Mon, Oct 13th, 2014

काटोल : युवाओं की जागरुकता से मिला 21 मवेशियों को जीवनदान

Kattalkhana
काटोल। युवाओं की जागरुकता और सतर्कता के चलते 21 मवेशियों को जीवनदान मिल गया और वे क़त्ल खाना जाने से बच गए. ये मवेशी मध्यप्रदेश से कामठी लाए जा रहे थे. वाहन में दारू के कैन भी मिले हैं.

पुलिस में की गई शिकायत के अनुसार ट्रक क्रमांक एम पी 57 जी ए 1094 नरखेड के रास्ते मवेशियों को लेकर काटोल की ओर आ रहा था. जानकारी मिलते ही कुछ युवकों ने सगमानगर उड़ान पुल के निकट बैठक रेस्टोरेंट के पास ट्रक को रोका. लेकिन वाहन रुका नहीं और आगे बढ़ने लगा. ट्रक के पीछे दौड़ते हुए बड़ी हिम्मत से युवाओं ने ट्रक को रोका, मगर चालक और वाहक ट्रक से उतरकर ट्रक के सामने चल रही बोलेरो गाड़ी में सवार होकर भाग गए. युवाओं ने ट्रक में देखा तो उसमें 21 मवेशी निकले, जिन्हें कत्ल खाना ले जाया जा रहा था. इसके लिए कोई लाइसेंस तक नहीं लिया गया था. मामला पुलिस तक पहुंचा. पुलिस ने ट्रक सहित मवेशियों को जब्त कर लिया. पूरा माल 5 लाख का बताया जाता है.

इस मुहिम में अनिल नेहारे, अमित केने, मनोज टेकाडे, निलेश भोयर, पिंटू मांडवेकर शामिल रहे. मवेशियों के लिए स्थानीय गोरक्षण समिति की ओर से चारे की व्यवस्था की गई. मुक्त कराए गए मवेशियों को नागपुर, देवलापार की गोरक्षण संस्थाओं में रखा जाएगा.