Published On : Wed, Jan 8th, 2020

गोंदियाः १६ किलो गांजे के साथ बंटी-बबली गिरफ्तार

उड़ीसा के टिटलागढ़ से ट्रेन द्वारा ला रहे थे नशे की खेप

गोंदिया: उड़ीसा प्रदेश के टिटलागढ़ से नशीले गांजे की खेप खरीदकर उसे अवैध तस्करी द्वारा पुरी-अजमेर एक्सप्रेस से ले जा रहे बंटी-बबली को रेलवे सुरक्षा बल ने मंगलवार ७ जनवरी के दोपहर ३ बजे धरदबोचा।

बरामद किए गए उच्च क्वालिटी के गांजे के पैकेट्स का कुल वजन १६ किलो १८४ ग्राम है जिसका मार्केट मूल्य १ लाख ६१ हजार १४० रूपये बताया जाता है।

वाक्या कुछ यूं है कि, मंडल सुरक्षा आयुक्त आशुतोष पांडेय एंव सहायक सुरक्षा आयुक्त ए.के. स्वामी के मार्गदर्शन तथा रेलवे सुरक्षा बल गोंदिया पोस्ट के प्रभारी नंद बहादूर के नेतृत्व में टॉस्क टीम के उपनि. विनेक मेश्राम, प्रधान आरक्षक जी.आर. मड़ावी, राजेंद्र रायकवार, आरक्षक नासीर खान की टीम दुर्ग से गोंदिया के बीच पुरी से अजमेर जाने वाली गाड़ी क्र. १८४२१ में पेट्रोलिंग कर रहे थे, इसी दौरान गोंदिया आने से कुछ देर पहले उन्होंने ट्रेन की बोगी एस-४ तथा एस-५ में बार-बार इधर से उधर, सामानों की अदला-बदली करते एक महिला व एक पुरूष यात्री को देखा, जिससे संदेह होने पर उनसे गाड़ी में ही पूछताछ शुरू की गई।

मलखान शंभुदयाल प्रजापति (३९) तथा शिवानी मलखान प्रजापति (३०) ने बताया कि, वे पति-पत्नी है और मध्यप्रदेश के सागर जिले के ग्राम खुरई निवासी है और भोपाल जा रहे है तथा , वे एस-४ में बैठे थे और टीटीई ने उन्हें एस-५ में कन्फर्मेशन बर्थ दिया है इसलिए वे सामान उठाकर वहां बैठने जा रहे है।

संदेह होने पर पुलिस ने उनके पास राजश्री और विमल पान मसाला लिखे बैगों को खोलकर दिखाने को कहा तो वे आनाकानी करने लगे।
पुलिस को गुमराह कर बातचीत में हड़बड़ा रहे इस दम्पति को गोंदिया ट्रेन के पहुंचने पर गाड़ी से उतारा गया और थाना कोतवाली लाया गया।

महिला आरक्षक रजनी शर्मा की मौजुदगी में जब टॉस्क टीम ने दोनों के बैग की तलाशी लेनी शुरू की तो उन ३ बैगों में से टेप लगे हुए पैकेट बरामद हुए। प्र्रथम दृष्टया शिनाख्त करने पर तीक्ष्ण गंध वाला उच्च क्वालिटी का गांजा पाया गया। मादक पदार्थ निश्‍चित होने पर नियमानुसार जानकारी कार्यकारी दंडाधिकारी, नायब तहसीलदार एस.एम. बारसागड़े को दी गई तथा फोटोग्राफर और सरकारी पंच-गवाहों के समक्ष उसका व़जन किया गया। गांजे का कुल वजन १६ किलो १८४ ग्राम है जिसकी कीमत १,६१,१४० रू. आंकी गई है।

पंचनामा रिपोर्ट पश्‍चात आगे की उचित कानूनी कार्रवाई हेतु आरोपियों को माल के साथ शासकीय रेलवे पुलिस के सुपुर्द किया गया। दोनों पति-पत्नी के विरूद्ध जीआरपी थाने में अ.क्र. ०२/२०२० की धारा २० (ब), (२), ८ (सी) एनडीपीसी (नार्कोटिक्ट) एक्ट के तहत ८ जनवरी को कार्रवाई की गई है। आज आरोपी दम्पति को अदालत में पेश कर रिमांड मांगी जाएगी ताकि मामले में अन्य आरोपी व तस्करों के नामों का खुलासा हो सके?
सनद रहे, उड़ीसा से बड़े पैमाने पर गांजे की खेप गोंदिया भी पहुंचायी जाती है, पुलिस इसे एक बड़ी कामयाबी मान रही है तथा संभावना जतायी जा रही है कि नशे के कारोबार में लिप्त सफेदपोशों का खुलासा हो सकेगा?

– रवि आर्य