Published On : Thu, Aug 20th, 2020

मंडी सेस का विरोध, एपीएमसी मार्केट यार्ड 25 अगस्त को बंद

नागपुर : महाराष्ट्र में सभी कृषि उपज मंडी समिति (एपीएमसी) के वार्डों में 25 अगस्त को एक दिन के लिए हड़ताल की जाएगी, बाजार शुल्क (मंडी सेस) जारी रखने के विरोध में, चैंबर ऑफ एसोसिएशन ऑफ महाराष्ट्र इंडस्ट्री एंड ट्रेड (CAMIT), राज्य में राज्य में 295 एपीएमसी यार्ड हैं जो किसानों और बाजारों के बीच एक कड़ी के रूप में कार्य करते हैं।

Advertisement

दी होलसेल ग्रेन एंड सीड्स मर्चेंट एसोसिएशन के सचिव प्रताप मोटवानी ने बताया कि आज दोपहर कमिट के चेयरमैन श्री मोहन गुरनानी की अध्यक्षता में जूम मीटिंग का आयोजन हुआ।जिसमें पूरे राज्य के व्यापारियों की सभा का आयोजन हुआ।।मोटवानी ने बताया कि APMC के अंदर लगने वाले सेस का सभी ने सख्त विरोध किया गया।बाहर सेस खत्म होने से APMC में सेस लगने से पूरा व्यापार चौपट होने के कगार पर है।मोटवानी ने बताया कि अंत में सभी व्यापारियो ने एकमत से 25 अगस्त को एक दिन का पूरे महाराष्ट्र में APMC मंडी बंद रखने का निर्णय लिया गया। सभा मे पुणे से वालचंद संचेती और सांगली सहित सभी क्षेत्रों से प्रतिनिधि सम्मिलित हुए।

Advertisement

केंद्र सरकार ने हाल ही में 10 जून, 2020 को महाराष्ट्र में APMC गज के भीतर व्यापारियों पर लगाए गए बाजार शुल्क को समाप्त कर दिया था, खासकर राज्य में APMC यार्ड के भीतर से परिचालन करने वालों को लाभ नहीं मिलता है। ऐसा इसलिए था क्योंकि केंद्र ने शुल्क को समाप्त कर दिया था, लेकिन एपीएमसी यार्डों के दायरे में काम करने वालों को महाराष्ट्र कृषि उत्पादन विपणन (विकास और विनियमन) अधिनियम, 1963 के तहत नियंत्रित किया जाता रहा। व्यापारी अब मांग कर रहे हैं कि राज्य इसमें संशोधन करे। शुल्क को समाप्त करे । APMC यार्ड के भीतर काम करने वाले व्यापारियो पर वर्तमान में अपने लेनदेन मूल्य का 1.05% मंडी सेस लग रहा है।जो कि अनुचित है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement