Published On : Sat, Jul 4th, 2015

अमरावती : अवैध शराब विक्रेता होंगे तड़ीपार


गृहराज्यमंत्री ने बताया 

3 Press
अमरावती।
गृहराज्यमंत्री राम शिंदे ने कहा कि अमरावती परिक्षेत्र में अवैध शराब, वरली मटका, जुआ समेत सभी अवैध धंन्धों की समीक्षा करने पर पता चला कि शराब विक्रेताओं पर पुलिसिया कार्रवाई हो रही है, किंतू यह कार्रवाई शराब विक्रेताओं पर प्रभावी नहीं है. रिकार्डधारी शराब विक्रेताओं के खिलाफ गैंगवार एक्ट के तहत उन्हें भी तडीपार करने के दिशा निर्देश दिये है.

चोरी, लूटमार पर नियंत्रण नहीं
विश्राम भवन में आयोजित पत्र परिषद में शिंदे ने कहा कि राज्य की 8 परिक्षेत्र में कानुन व सुव्यवस्था के लिए समीक्षा मीटिंग की है. जिसमें खुन व खुन के प्रयास जैसे मामलों में पुलिस का काम समाधानकारक है, किंतू चोरी, घर सेंध, लूटमार, राहजनी जैसी घटनाओं में पुलिस विफल दिखाई देती है. इन अपराधों में भी बेहतरीन काम करने की सूचनाएं दी गई है. कनवेक्शन बढऩे 1 जुलाई से प्रत्येक थाना स्तर पर विशेष पुलिस जांच दल गठीत किये गये है. जो सिर्फ संबंधित मामलों की जांच कर कोर्ट में चार्जशीट पेश कर कनवेक्शन बढ़ायेगा.

1 वर्ष में अकोला आयुक्तालय
उन्होंने कहा कि पिछली सरकार ने केवल अकोला पुलिस आयुक्तालय बनाने की घोषणा की थी, किंतू युती सरकार एक वर्ष में अकोला में कमीशनरेट बनाने वाली है. जिसकी सभी प्रक्रिया पुर्ण हो चुकी है. परिक्षेत्र में आरोपियों पर पुलिस व्दारा की जा रही प्रतिबंध कार्रवाई व एमपीडीए कार्रवाई का काम राजस्व विभाग में अत्यंत धीमी गति से किया जा रहा है. जिसका रिवीजन लेना आवश्यक है. अमरावती परिक्षेत्र में आइजी के रिक्त पद पर उन्होंने कहा कि अमरावती अतिसंवेदनशील परिक्षेत्र माना जाता है, इसीलिए सरकार नए आदेशों के तहत जल्द ही यहां नियमित आईजी नियुक्त करेगी. पुलिस अधिकारी, कर्मियों के रिक्त पद भी भरे जाएगे.

कृत्रिम बारिश की तैयारी
फसल कर्ज व कर्ज पूर्नगठन पर सीएम ने सभी लीड बैंकों को स्पष्ट आदेश दिए है कि कोई भी कर्ज देने से इंकार करता है, तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी. इन आदेशों का बैंक के अधिकारियों ने पालन करना ही चाहिये. मराठवाडा, बीड, उस्मानबाद व पश्चिम विदर्भ से अचानक बारिश लापता हो चुकी है. जिससे किसानों के सामने नई समस्या आनपड़ी है. सरकार ने राज्य में दूबारा बुआई व कृत्रिम बारिश की भी तैयारी की है.