Published On : Mon, Jun 15th, 2015

अमरावती : किसानों से आनाकानी पर एफआइआर

पालकमंत्री की बैंकों को  ताकिद

15 Meeting
अमरावती। पालकमंत्री प्रवीण पोटे ने सोमवार को राष्ट्रीय व सहकारी बैंकों के अफसरों को कड़ी ताकिद दी. चेताया कि किसानों को फसल कर्ज देने से इंकार किया या फिर पुराना कर्ज होने पर पुनर्गठन करने से मना किया तो उस बैंक के मैनजर, संचालक मंडल के खिलाफ सीधे एफआयआर दर्ज होगी. 20 जून के पहले-पहले सभी बैंक दिये गये टारगेट के अनुसार शत-प्रतिशत क्राफ्ट लोन बांटे.

कर्ज वितरण के आंकडे देख बिफरे
महाराष्ट्र बैंक के मैनेजर व्दारा कर्ज के पुनर्गठन से साफ इंकार करने पर मोर्शी तहसील के गांव नशीरपुर में युवा किसान सुधीर गावंडे ने शुक्रवार को आत्महत्या कर ली. जिसकी गंभीर दखल लेते हुये पालकमंत्री ने जिले में इसकी पुनरावृत्ति टालने के लिये सोमवार को जिलाधीश कार्यालय में मीटिंग ली. जिसमें उन्होंने सबसे पहले बैंकों के अधिकारियों से फसल कर्ज के लिये दिये गये टारगेट की वर्तमान स्थिति के बारे में पूछा. पंजाब नैशनल बैंक, आइडीबीआइ, सिंडीकेट ने केवल 5 प्रतिशत से भी कम फसल कर्ज बांटा. यह आंकडे देखकर पालकमंत्री बिफर पड़े.