Published On : Fri, Jun 26th, 2015

अमरावती : बगैर सुराग पकड़ाये दुष्कर्मी


ग्रामीण एलसीबी की कार्रवाई 

अमरावती। परिवार से नाराज होकर घर से निकली नाबालिग युवती को नौकरी दिलवाने के बहाने कोंडेश्वर के जंगल में ले जाकर दुष्कर्म करने वाले आरोपियों को बिना किसी सुराग के धर दबाचने में ग्रामीण पुलिस कामयाब रही. दोनों आरोपियों को युवती ने भी पहचान लिया है. पकड़े गए आरोपी अतीक अब्दुल जमील (21, गुलीस्ता नगर) तथा सै. वसीम उर्फ चिकना सै. हसन (22, मुजफ्फरपुरा) है.

नौकरी के बहाने जंगल ले गए
चांदुर रेलवे परिसर में रहने वाली 14 वर्षीय किशोरी का 18 जुन को किसी बात से परिजनों से झगड़ा हो गया, इस बात से नाराज होकर वह दोपहर के समय घर से निकल गई थी. जो चांदुर रेलवे स्टेशन से रेल से बडनेरा जाने वाली थी. स्टेशन पर उसे अतीक मिला, लेकिन उसने अपना नाम समीर बताया. उसने बडनेरा में नौकरी दिलवाने का झांसा देकर विश्वास में लिया. बडनेरा स्टेशन पर उतरकर वह एक आटों से कोडेश्वर गये. इस आटो में उसका एक और साथी मौजुद था. दोनों ने जंगल में उससे सामुहिक दुष्कर्म किया. जिसे बेहोश छोडक़र आरोपी भाग निकले. जैसे तैसे किशोर कोडेश्वर मंदिर पहुंची. यहां एक शख्स की मदद से घर पहुंची.चांदुर रेलवे पुलिस ने मामला दर्ज किया.

सीसीटीवी कैमेरा से खोज निकाला
दोनों आरोपियों के नाम, पते के बारे में कोई जानकारी पुलिस के पास नहीं थी. फिर भी एलसीबी ने इस प्रकरण की जांच बडनेरा से शुरु की. आरोपियों ने उसे कोडेश्वर ले जाने से पहले एक होटल में चाय, नाश्ता कराया था. पुलिस ने होटल के पास-पडोस की दूकानों में लगी सीसीटीवी कैमेरों की जांच की, जिससे उन्हें एक फूटेज मिला. इस फूटेज के आधार पर रेलवे में चोरी व जेब काटने वाले शातिर बदमाशों की जानकारी निकाली. इसी के तहत एक व्यक्ति ने फूटेज वाले शख्स को वसीम के रुप में पहचाना, लेकिन वसीम खोलापुर चला गया था. वसीम के बारे में जानकारी निकालने पर अतीक का नाम सामने आया. दोनों हैदराबाद भागने वाले थे. जिन्हें खोलापुर से पुलिस ने हिरासत में लिया. दोनों आरोपियों को चांदुर रेलवे के हवाले किया है. एसपी लखमी गौतम के मार्गदर्शन में पीआइ हिरडेकर,एपीआय नागेश चतरकर, मुलचंद भाबुरकर, त्रंबक मनोहरे, शकील चव्हाण, सचिन मिश्रा, संदीप लेकुरवाडे ने कार्रवाई में सहभाग लिया.

Representational Pic

Representational Pic