Published On : Wed, Jul 22nd, 2015

अमरावती : कांग्रेस पार्षद समेत 17 गिरफ्तार


स्थिति काबू में, 20 समेत अन्य पर मामले 

22 Fejarpura
अमरावती। फ्रेजरपुरा के बडे हनुमान मंदिर के पास एक शख्स व्दारा महिला से गाली गलौच करने की बात को लेकर दो समुदाय के आमने-सामने आ जाने से बने भारी तनाव पर फ्रेजरपुरा पुलिस ने काबू पा लिया है. मामूली बात पर दो समुदाय के बीच झगडे फसाद करने का प्रयास करने वाले लोगों की धरपकड़ अभियान पुलिस ने छेड़ दिया है. इस प्रकरण में क्षेत्र के कांग्रेस पार्षद अरुण जयस्वाल समेत 17 आरोपियों को हिरासत में लिया है. जबकि 20 समेत अन्य के खिलाफ दंगा करने व गैरकानूनी तरीके से इकठ्ठा होने के तहत मामले दर्ज किये गये है. गिरफ्तार आरोपियों में नगरसेवक अरुण जयस्वाल के साथ विजय किसन मंडले, सुजीत गिरधारी तायडे, शैलेश विनोद वन्ने, निरंजन मोहन दुबे, गणेश राधेशाम वन्ने, राहुल अर्जुन मंडले, रमेश लक्ष्मीनारायण वन्ने, नितिन पुरुषोत्तम गादेपाक, संदेश रमेश वन्ने, विनोद लक्ष्मीनारायण वन्ने है, जबकि दूसरे गुट में शेख रहीम शेख आदम, शेख समीर शेख जिलानी, शेख रहमान शेख आमद, अ.नाजीम अ.रज्जाक, अ.नफीस अ.हफीज, इस्ताक खान बाला खान को हिरासत में लिया है

गाली गलौच से भडक़ा आक्रोश
सोमवार को बडे हनुमान मंदिर के पास शेख रहीम नामक शख्स ने एक महिला से गाली गलौच की. इस महिला के सैकड़ों समर्थकों ने फ्रेजरपुरा थाने जाकर रिपोर्ट दर्ज कराई. मंगलवार सुबह फ्रेजरपुरा पुलिस ने शेख रहीम को हिरासत में लेकर सीपी राजकुमार व्हटकर के समक्ष पेश किया. जिसे सीपी ने समझाईश भी दे दी थी. यहां प्रकरण निपट गया था, किंतु मंगलवार की रात 8.30 बजे इसी रंजिश में 60 से 70 लोग शस्त्र लेकर रहीम के घर पहुंचे, जिन्होंने उसके घर जाकर गाली गलौच की, लेकिन रहीम एसीपी आफिस की पेशी में रहने से वह घर पर नहीं मिला. घर लौटने पर उसे इस बारे में पता चला. जिसके पश्चात दोनों गुट फ्रेजरपुरा के लायबरी चौक पर आमने-सामने आ गये. जिनके हाथों में चाकु, तलवार, भाला जैसे तीक्ष्ण हथियार थे. जिनकी आपस में झपट भी हुई, किंतू समय रहते फ्रेजरपुरा थानेदार खंडेराव पुलिस बल के साथ घटनास्थल पहुंच गये. पुलिस को देखते ही भीड़ तीतर-बीतर हो गई.

अफवाह से गर्माया क्षेत्र
इस घटना के बाद अफवाह तेजी से फैल गई. जिसके कारण कई लोगों ने अपने प्रतिष्ठान भी बंद कर दिया. सूचना पर डीसीपी सोमनाथ घार्गे खुद आरसीपी प्लैटुन लेकर रास्ते पर आ गये. जिन्होंने रात भर क्षेत्र में पेट्रोलिग गश्त लगाकर स्थिति पर निगरानी रखी. सैकड़ों महिलाओं ने थाने पहुंचकर तिक्ष्ण हथियारों पर धमकाने की शिकायत दी.

22 Fejarpura 2
पार्षद का बयान दर्ज

नाईक पुलिस कर्मी संजय देवुलकर की रिपोर्ट पर दोनों गुट के खिलाफ दफा 143, 294, 504, 506 तथा आरडब्ल्यु 135 के तहत मामला दर्ज किया. नामजद आरोपी में प्रभाग क्र.17 के नगरसेवक अरुण जयस्वाल, विजय मंडले, नितिन गादेपाक, सुजीत तायडे, संदेश वन्ने, शैलेश वन्ने, विनोद वन्ने, निरंजन दुबे, प्रणीत सोनी व अन्य युवक तथा दूसरे गुट के शेख रहीम, समीर अहमद रेतीवाला, बाबा खान, अ.नाजीम, अ.रज्जाक व अन्य युवकों का समावेश है. बुधवार तडक़े पुलिस ने दंगाईयों को पकडने की मुहिम चलाई.. थानेदार खंडेराव ने बुधवार की सुबह पार्षद अरुण जयस्वाल को थाने बुलाकर पूछताछ की. जिसे बाद में गिरफ्तार किया. अन्य आरोपियों की सरगर्मी से तलाश की जा रही है. क्षेत्र में प्रत्येक चौक-चौराहे पर अतिरिक्त बंदोबस्त लगाया गया है. इस क्रम में शांतता समिति की मीटिंग भी ली गई.