Published On : Thu, Apr 5th, 2018

अखिल विश्व सरयूपारीण ब्राम्हण महासभा ने किया समाज के प्रतिभावान दिग्गजों को सम्मानित


नागपुर: अखिल विश्व सरयूपारीण ब्राम्हण महासभा की ओर से बुधवार को विदर्भ हिंदी साहित्य सम्मेलन के अर्पण हाॅल में भव्य स्नेह मिलन व सत्कार समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में समाज के विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत व विशेष उपलब्धि अर्जित करने वाले प्रतिभावान व गुणवान दिग्गजों को उनके समाज के लिये किए जा रहे उल्लेखनीय कार्यों के लिये सम्मानित किया गया। इस अवसर पर दत्ता मेघे मानद विश्वविद्यालय की महाराष्ट्र में प्रथम महिला कुलपति डाॅ. नीलम वेदप्रकाश मिश्रा, डा. वेद प्रकाश मिश्रा, पुलिस विभाग में कार्यरत व राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित माता प्रसाद पांडेय, रामआसरे मिश्रा, कौशलधर दुबे, अधिवक्ता प्रमोद कुमार मिश्रा, ओमप्रकाश मिश्रा, लाॅ के विभिन्न विषयों में 9 पदक प्राप्त करने वाले युवा सौरभ शरद त्रिवेदी व वाद विवाद स्पर्धा में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले अथ दयाशंकर तिवारी व प्रसिद्ध गायक एम.ए कादर को शाॅल, श्रीफल व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित कर सत्कार किया गया। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में समाजबंधुओं ने बढ़चढ़कर हिस्सा लिया।

कार्यक्रम का आगाज अखिल विश्व सरयूपारीण ब्राम्हण महासभा के सभी पदाधिकारियों द्वारा माता सरस्वती व श्री गणेश की वंदना से हुआ। स्वागत भाषण देते हुए महासभा के महामंत्री रामनारायण मिश्रा ने सभी गणमान्यों का परिचय कराया। इस अवसर पर डा. नीलम मिश्रा ने कहा कि आज समाज में नैतिक मूल्यों का विकास होना अति आवश्यक है। नैतिक व मानवीय मूल्यों का विकास ही समाज को आगे बढ़ाने की कुंजी है। डा. वेदप्रकाश मिश्रा ने अपने व्यक्तव्य में कहा कि जो समाज गुणवान व प्रतिभावान व्यक्तियों का सत्कार करता है, वही उन्नयन की ओर अग्रसर होता है। समाज वैभव व बल के सहारे नहीं अपितु अपने सुसंस्कारों व सभ्यता के बल पर आगे आता है। समाज को प्रेरणा देने के लिये प्रेरणादायी बिंदू का होना जरुरी है। माता प्रसाद पांडेय ने सभी उपस्थितों को मेहनत व ईमानदारी से अपने लक्ष्य की ओर बढ़ने के लिये प्रेरित करते हुए समय के प्रति अनुशासन व सूचकता पर विशेष जोर दिया। कौशलधर दुबे व रामआसरे मिश्रा ने महासभा का अभिनंदन करते हुए धन्यवाद ज्ञापित किया। समाज के लिये निःशुल्क सेवा देने वाले अधिवक्ता प्रमोद कुमार मिश्रा ने कानून विषयक मार्गदर्शन किया। उन्होंने ध्येय, संकल्प व समर्पण पर विशेष बल दिया। ओमप्रकाश मिश्रा ने ब्राम्हण समाज की एकजुटता पर रोशनी डाली। वहीं युवा सौरभ त्रिवेदी व अथ दयाशंकर तिवारी ने युवाओं को अपने लक्ष्य पर ध्यान कंेद्रित कर उसे पाने के लिये परिश्रम करने की सलाह दी।

कार्यक्रम के दौरान गायक कलाकार एम. ए कादर, राजू व्यास व पुष्पलता बोखड़े ने सुंदर गीतों की प्रस्तुति की। वहीं डा. प्रेमलता तिवारी के मार्गदर्शन में बच्चों ने स्वागत गीत प्रस्तुत किया। कार्यक्रम को सफल बनाने में महासभा के अध्यक्ष देवी प्रसाद शुक्ला, कार्याध्यक्ष श्याममूर्ति पांडेय, महामंत्री रामनारायण मिश्रा, कोषाध्यक्ष माताप्रसाद दुबे, वरिष्ठ उपाध्यक्ष ओम प्रकाश मिश्र, राजेश प्रसाद पांडेय, रत्नेश्वर तिवारी, शशांक पांडेय, संजय सत्यनारायण पांडेय, मंत्री नितिन तिवारी, रविंद्र कुमार पांडेय, संजय रामविलास पांडेय, संगठन मंत्री मनोज कुमार पांडे, अजय पांडेय, दर्शना पांडेय ने अथक प्रयास किया ।