Published On : Mon, Jan 20th, 2020

Alexis hospital के Director पर छेड़खानी का मामला हुआ दर्ज

कई वर्षो से पीड़िता को कर रहा था परेशान

नागपुर– भले ही महिलाओ की सुरक्षा के लिए कड़े कानून बनाएं गए है। लेकिन अब भी निजी संस्थान में काम करनेवाली महिलाओ को शोषण का सामना करना पड़ता है। कई बार पीड़िता ऐसे लोगों के खिलाफ आवाज उठाती है तो कई बार बेबस होकर चुप हो जाती है। ऐसा ही एक मामला मानकापुर स्थित एक बड़े हॉस्पिटल में सामने आया है। हॉस्पिटल के ही संचालक ने महिला प्रबंधक से कई बार छेड़खानी की है।

हॉस्पिटल का नाम अलेक्सिस हॉस्पिटल Alexis hospital है। आरोपी का नाम संचालक सूरज प्रकाश त्रिपाठी Dr Suraj Prakash Tripathi है। जानकारी के अनुसार आरोपी अलेक्सिस हॉस्पिटल का संचालक सूरज प्रकाश त्रिपाठी और पीड़िता महिला प्रबंधक एक दूसरे से परिचित है। मानकापुर पुलिस स्टेशन Mankapur Police Station में पीड़िता द्वारा दर्ज शिकायत के अनुसार वर्ष 2016 से अभी तक हॉस्पिटल के काम के चलते वह आरोपी सूरज के साथ विदेश भी जाती थी। इस दौरान सूरज ने उससे अभद्र व्यवहार कर कई बार छेड़खानी की। बदनामी के कारण पीड़िता ने किसी से भी कुछ नहीं कहा और चुपचाप यह सहती रही। पीड़िता की खामोशी से संचालक सूरज के हौसले और बढ़ गए और इस बीच 14 जनवरी 2019 को सूरज ने पीड़िता को अलेक्सिस हॉस्पिटल में स्थित अपने केबिन में बुलाया और फिर उससे छेड़छाड़ की।

पीड़िता ने हॉस्पिटल (Alexis hospital) के संचालक सूरज पर कई गंभीर आरोप भी लगाए है। विदेश में जाने पर छूना, अश्लील बाते करना। सूरज की शिकायत पीड़िता ने मैनेजमेंट से भी की थी। इसके बाद पीड़िता के भाई ने भी सूरज को समझाया था। इसके बाद सूरज ने ऐसा बर्ताव दोबारा न करने की बात उससे से कही थी और माफ़ी भी मांगी थी। कई बार उसने पीड़िता को महंगे महंगे गिफ्ट देना चाहा। लेकिन पीड़िता ने हमेशा मना किया। 20 से 25 बार पीड़िता को वह फोन लगाता था और चैट करता था। विदेश में पीड़िता से उसने अश्लील बात भी की थी। एक बार सूरज ने पीड़िता का पीछा किया। जिसके बाद पीड़िता के भाई ने उसे समझाया था। जिसके बाद सूरज ने 100 रुपए के स्टैम्प पेपर पर समझौता पत्र लिखकर दिया था। सूरज के इस तरह से परेशान करने के कारण पीड़िता को काफी मानसिक तकलीफ भी हुई।

साफ़ बात यह है कि अगर इस तरह के आरोप की जानकारी पीड़िता ने मैनेजमेंट को दी थी, तो फिर आखिर क्यों अलेक्सिस हॉस्पिटल (Alexis hospital)के मैनेजमेंट ने पीड़िता की शिकायत को गंभीरता से नहीं लिया और सूरज पर कड़ी कार्रवाई क्यों नहीं की गई। यह सवाल उठता है। जानकारी के अनुसार पीड़िता के पास सूरज के छेड़खानी करने के कई सबूत भी है।

इस मामले को लेकर जब दोनों के बीच हंगामा हुआ। तो आरोप प्रत्यारोप का दौर चला। इसके बाद रविवार को मामला पुलिस स्टेशन पंहुचा। पीड़िता की शिकायत पर रविवार की रात उसने सूरज के खिलाफ छेड़छाड़ और धमकाने का मामला दर्ज कराया है। इस मामले में अब तक गिरफ्तारी नहीं होना भी पुलिस पर सवालियां निशान खड़े कर रहा है।