Published On : Fri, Apr 3rd, 2015

यवतमाल : अमरावती में 10 सें कृषि प्रदर्शनी


किसान उठाए इसका लाभ

यवतमाल। कृषि प्रदर्शनी और कार्यशाला का आयोजन भारत के तत्कालीन कृषिमंत्री पंजाबराव देशमुख की स्मृति में 10 से 13 अप्रैल को अमरावती में किया गया है. किसानों को तकनीकि और कृषिक्षेत्र की जानकारी मिले इस उद्देश्य से यह आयोजन किया गया है, ऐसी जानकारी संवाददाता सम्मेलन में राजाभाऊ देशमुख, प्रभाकर मिश्रा, सुधीर जगताप, रवि पाटील और अरूण वानखेड़े ने दी. वे स्थानीय पत्रकार भवन में शाम को बुलाए गए संवाददाता सम्मेलन में बोल रहें थे.

उन्होंने बताया कि, तीन दिन चलनेवाली इस कृषि प्रदर्शनी में 25 हजार किसान शामिल होनेवाले है. विदर्भ के और देहात तक इसकी जानकारी पहुंचाई गई  है. अमरावती विभाग के बचतगुटों का प्रदर्शनी भी इसीमें शामिल है. कपास और  सोयाबीन छोड़कर अन्य फसल लेने की मानसिकता किसान करें, क्षमता होने के बाद भी यवतमाल के किसान फलखेती नहीं करते, ऐसा भी उन्होंने बताया. इस प्रदर्शनी का  उद्घाटन 10 की दोपहर 4.30 बजे केंंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी करेंगे. इस समय उपस्थित मंत्रियों में प्रविण पोटे, डा. रंजीत पाटिल, संजय राठोड़ का समावेश रहेंगा. शाम 7 बजे कवि सम्मेलन होगा. जिसमें रामदास फुटाणे, अशोक नायगावकर, विष्णू वाघ, इंद्रजीत भालेराव, नितिन देशमुख, ज्ञानेश वाकुड़कर उपस्थित रहेंगे. 11 को सीए देवेंद्र फडणवीस कृषि विकास कार्यशाला का उद्घाटन करेंगे.

इस कार्यक्रम की अध्यक्षता मंत्री दिवाकर रावते करेंगे. अन्य मंत्री भी इस समय उपस्थित रहेंगे. 11 की शाम 7 बजे मराठी-हिंदी गितों का कार्यक्रम होगा. जिसमें सावनी रविंद्र, अनिरूद्ध जोशी, भाग्यश्री टिकले, रसिका जोशी गीत प्रस्तूत करेंगी. 12 की शाम 7 बजे सत्यपाल महाराज का प्रबोधन पर कार्यक्रम होगा. 13 की दोपहर 3 बजे इस प्रदर्शनी का समापन केंद्रीय राज्यमंत्री हंसराज अहिर के हाथों होगा. इस समय उपस्थित मंत्रियों में विजय शिवतारे का समावेश है. इस प्रदर्शनी को मंत्री चंद्रशेखर बावनकुले, दिपक केसरकर, सांसद , विधायक और अन्य व्यक्ति भेंट देंगे. यहां आने-जानेवाले किसानों के लिए निवास, भोजन आदि की व्यवस्था भी की गई है.

File pic

File pic