Published On : Wed, Feb 11th, 2015

देवली : 8 महीनों बाद पेश की गई मौका जांच रिपोर्ट


पटवारी हाडे ने पेश की रिपोर्ट

देवली (वर्धा)। चिखली के तलाठी ने किसान अधिकार अभियान की मौका रिपोर्ट तहसील कार्यालय में सौपी. चंपत नानाजी पाटणकर ने खेती के सड़क के लिए 12 मई 2014 को तहसीलदारो को शिकायत अर्जी पेश  की. नायब तहसीलदार ने 17 मई 2014 को मौका जांच की रिपोर्ट पेश करने के लिए हाडे को पत्र दिया. सात महीनों की अवधि होकर भी कार्रवाई नही हुई. इसलिए चंपत नानाजी राउत ने संबंधित मामले के लिए तहसील कार्यालय से पता लगाया. जिससे तलाठी हाडे ने मौका जांच की रिपोर्ट पेश नहीं करने की बात सामने आई.

संबंधित मामले के लिए तहसीलदार जे.पी. कुंवर को चिखली में किसान चंपत नानाजी पाटणकर के प्रकरण की बात ध्यान में लाकर दी. इस संदर्भ में कुंवर ने नायब तहसीलदार सुभाष यादव को उक्त प्रकरण की कार्रवाई करने की सुचना दी. मौका जांच रिपोर्ट देने के लिए करीब 8 महीने लग गए. इससे लगता है पटवारी कितने तत्पर रहकर किसानों का काम करते है ये दिखाई देता है. शिकायत करने के बाद सात महीनों में तहसील कार्यालय की ओर से कार्रवाई नही हुई इसकी जाँच होनी चाहिए ऐसा मत किसान अधिकारी अभियान के ता. सचिव किरण राउत ने व्यक्त किया. चंपत नानाजी पाटणकर के खेती की सड़क की समस्या के लिए उपविभागीय अधिकारी जांच करके तहसील कार्यालय से कार्रवाई में देर क्यू हुई? इसके बारें जांच करके कार्रवाई करें और किसान चंपत नानाजी पाटणकर को खेती के लिए रास्ता दें ऐसी मांग किसान की ओर से की गई है.

chikhli