Published On : Tue, Nov 5th, 2019

वकिलों ने किया आंदोलन

नगपुर: दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में पुलिस और वकीलों के बीच हुई हिंसक झड़प पर पूरे देश में वकीलों ने विरोध प्रदर्शन जारी है. सोमवार को जिला सत्र न्यायालय के वकीलों ने इस मामले में दोषी पुलिसकर्मियों पर सख्त कार्रवाई की मांग की. महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव एड. अक्षय समर्थ के नेतृत्व में न्यायालय में कार्यरत वकीलों ने काम छोड़कर न्यायालय के एक्जिट गेट पर दिल्ली पुलिस के खिलाफ जोरदार आंदोलन किया.

मामले की हो जांच
एड. समर्थ ने कहा कि तीस हजारी कोर्ट में दिल्ली पुलिस ने छोटे से पार्किंग के मामले को लेकर वकीलों पर गोली चलाई. पुलिस द्वारा चलाई गई गोलियों और लाठीचार्ज के खिलाफ आंदोलन किया जा रहा है. कानूनन गोली चलाने का आदेश हथियारबंद लोगों से मुठभेड़ होने पर ही दिया जाता है. झड़प के दौरान वकीलों के पास कोई हथियार नहीं होने के बाद भी दिल्ली के स्पेशल सीपी ने लाठीचार्ज करने और एडिश्नल सीपी ने गोली चालाने के आदेश दिया. इसका एक वकील को गोली मारी गई.

पहले भी हो चुकी ऐसी घटना
पुलिस व वकीलों के बीच मुठभेड़ इसके पहले कोलकाता में भी हुई है. बार-बार हो रही इन घटनाओं से वकीलों भय का वातावरण फैला हुआ है. इस घटना की जांच कर दोषियों पर कार्रवाई की मांग की गई है. पुलिस के गलत एक्शन की कड़ी निंदा करते हुए दिल्ली के वकीलों का समर्थन करते है. इस अवसर पर अधि. अभय रंदीवे, अधि. उज्वल राऊत, अधि. शबाना दीवान, अधि. प्रकाश तिवारी, अधि. प्रफुल सोनुले, अधि. कविता मूल, अधि. शादाब खान, अधि. श्याम साहू, ओमप्रकाश यादव, सुरेश शिंदे, बाबा बडूले, विलास राऊत, सुधाकर तागडे, तिलक लारोकर, कुलाशीर भांगे, सुनीता पाल, प्रमोद उपाध्याय, प्रिया गोंडाने, शुभम खवशी आदि उपस्थित थे.