Published On : Fri, Apr 7th, 2017

विपक्ष की किसान संघर्ष यात्रा का ‘आप’ का विरोध


नागपुर
: महारष्ट्र में किसान की आर्थिक हालात काफी खराब हो चुकी है। खासकर विदर्भ में अब तक हजारों किसान आत्महत्या कर रहे हैं। लेकिन सरकार किसानों की व्यथा पर ध्यान न देते हुए केवल केवल राजनीती कर रही है। जबकि ऐसी यात्राओं की पहल कांग्रेस ने की थी। शिवसेना सत्ता का सुख लेने के लिए सिर्फ किसान कर्जमाफी की बात कर रही है। यह आरोप आम आदमी पार्टी की ओर से गुरुवार को शहर के सविधान चौक में सरकार और विपक्ष के खिलाफ आयोजित धरना प्रदर्शन के दौरान लगाया गया।

प्रदर्शन कर रहे कार्यकर्ताओ ने कहा कि विधानसभा चुनाव से पहले मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस बतौर विपक्षी नेता किसानों की कर्जमाफ की मांग किया करते थे। मांग में स्वामीनाथन आयोग की सिफारशों को लागू करने से लेकर कपास को 7 हजार, सोयाबीन को 5 हजार और धान को 3 हजार रुपए देने की मांग करते नजर आते थे। लेकिन आज तक किसी भी राजनैतिक पार्टी ने आगे इसकी पहला नहीं की.


इस प्रदर्शन में विदर्भ के संयोजक डॉ. देवेंद्र वानखेड़े, उप संयोजक डॉ.अलीम पटेल, सचिव जगजीत सिंह, प्रभात अग्रवाल, सोनू ठाकुर समेत पार्टी के अन्य कार्यकर्ता भी मौजूद थे .