Published On : Fri, Jul 15th, 2016

वृक्षारोपण के लिए बनेगा नया कानून, चंद्रपुर के प्रदूषण पर नजर रहेगा विशेष स्कॉड

वृक्षारोपण के लिए सरकार बनाएगी नया कानून  

Ramdass kadam.
नागपुर:
आम तौर पर कई तरह के विकास कार्यो को अंजाम देते समय पेड़ों को काट दिया जाता है। इस खामियाजे की भरपाई के तौर पर सरकारी एजेंसी शहर से दूर वृक्षरोपण करती है। पर विशेषज्ञों के मुताबिक पर्यावरण के संतुलन के लिए हर जगह तय प्रमाण में हरियाली होनी चाहिए जो शहरों से मिटती जा रही है। पर्यावरण के इस असंतुलन को रोकने के लिए नया कानून बनाए जाने की जानकारी पर्यावरण मंत्री रामदास कदम ने नागपुर में पत्रकारों से बात करते हुए दी। पर्यावरण मंत्री के मुताबिक जिस जगह पर निजी या सरकार द्वारा विकास काम होगे अगर उसके लिए पेड़ काटे जाते है। तो उसी जगह के आस -पास ही पेड़ लगाने का कानून बनाया जायेगा। कदम ने कहा की पर्यावरण के संतुलन के लिए हल ही में वृक्षरोपण अभियान चलाया गया। ऐसे अभियान पहले भी चलाये जा चुके है पर इस बार यह काम पूरी निगरानी के साथ हो रहा है।

चंद्रपुर में प्रदुषण पर नजर रखेगा स्कॉड
राज्य के पर्यावरण मंत्री रामदास कदम ने चंद्रपुर में पर्यावरण के संबंध में एक अहम बैठक की। इस बैठक का मकसद चंद्रपुर के प्रदुषण स्तर को कम करना था। इस बैठक में जिले के उद्योगपति ,जिलाधिकारी ,मनपा आयुक्त और विभाग के अधिकरी शामिल हुए। इस बैठक में जिले के प्रदुषण स्तर को कम करने के साथ जिले को प्रदुषण मुक्त बनाने के लिए किये जाने वाले प्रयासों पर चर्चा हुई। पर्यावरण मंत्री के मुताबिक पर्यावरण की दृस्टि से सरकार ने कई नए नियम बनाए है जिससे पर्यावरण की रक्षा हो सके। सरकार की इन्ही नीतियों की वजह से प्रदुषण के लिए पिछले वर्ष तक नंबर दो का स्थान रखने वाला चंद्रपुर जिला अब 54 वे नंबर पर आ गया है। पर सरकार जिले को प्रदुषण मुक्त बनाने का लगातार प्रयास कर रही है। इसी उद्देश से विभाग ने खास तौर से एक स्कॉड बनाने का फैसला लिया है। पांच लोगो के स्कॉड का काम जिले के पर्यावरण पर नजर रखने के साथ प्रदुषण ख़त्म करना होगा। इस स्कॉड के पास कागजी कार्यवाही करने का अधिकार होगा। उच्च अधिकारों के साथ गठित यह स्कॉड सीधे मंत्रालय को रिपोर्ट देगा।