| |
Published On : Sat, Sep 22nd, 2018

हर साल डेढ़ लाख महिलाओं को होता है स्तन कैंसर, 70 हजार महिलाओं की इस बिमारी से होती है मौत

नागपुर : ‘स्टार्ट’ संस्था महिला पुर्नवसन केंद्र दत्तपुर की ओर से तिगांव में स्तन कैंसर जांच शिबिर क आयोजन और पोर्टेबल मशीन का उद्घाटन किया गया. मशीन का उद्घाटन ग्रामपंचायत के सरपंच दयावंती बलवीर ने किया. मशीन का महत्व डॉ. मनीषा रेवतकर व डॉ. अतुल रघटाटे ने मौजूद महिलाओं को समझाया. भारत में हर साल करीब 1,50,000 महिलाओं को स्तन कैंसर होता है और 60 प्रतिशत से अधिक स्तन कैंसर के मामलों में प्रगत अवस्था में पाए गए महिलाओं में जो पांच साल तक जिन्दा रहने की दर 52 प्रतिशत कम करती है. हर साल 70 हजार महिलाओं कि इस बिमारी से मौत होती है. ‘पोर्टेबल ‘ उपकरण के कारण महिलाओं की छाती में तेज और अचूकता के साथ बिमारी की पहचान की जाती है. इसमें किसी भी प्रकार का विकिरण नहीं किया जाता और यह पूरी तरह से वेदनाहिन् है. इस उपकरण से जल्द पहचान और निदान करना मुमकिन है.

इस दौरान डॉ. मनीषा रेवतकर ने बताया कि अगर स्तनपान के कैंसर की ज्यादा जानकारी नहीं है लेकिन बिमारी की जल्द पहचान स्तनपान के कैंसर पर नियंत्रण करने का सबसे आसान मार्ग है. जब स्तन कैंसर की जानकारी जल्दी पता चलती है तो स्तन कैंसर ठीक हो सकता है.

इसी संस्था की ओर से वनदेवी नगर में स्वास्थ शिबिर का आयोजन किया गया था. दलवी स्माइल व् अनुसंधान केंद्र के डॉक्टर व गजभिए सिस्टर इन्होने महिलाओ के स्वास्थ की जांच कर उन्हें दवाइयों का वितरण किया. ‘ स्टार्ट ‘ संस्था हर महीने में विभिन्न सामाजिक शिबिरों का आयोजन करती है. स्टार्ट संस्था की सचिव उषा पाटिल और लिया प्याटीसन इनके मार्गदर्शन में इस शिबिर का आयोजन किया गया. कार्यक्रम में संस्था के सोशल वर्कर राजेश पाटिल, पूजा आटे, सुधा पाटिल, नर्स प्रिया जगताप ने परिश्रम किया .

Stay Updated : Download Our App