Published On : Thu, Oct 16th, 2014

वर्धा : शांतिपूर्ण ढंग से मतदान प्रक्रिया पूरी, 58 फीसदी मतदान


Voting
वर्धा
। जिले में विधानसभा चुनाव शांतिपूर्ण ढंग से हुए. जिले की चार विधानसभा क्षेत्रों से 69 प्रत्याशी चुनावी मैदान में थे. इन प्रत्याशियों के लिए 10 लाख 40 हजार 244 मतदाताओं को मताधिकार का प्रयोग करना था. जिले में कुछ स्थानों पर मशीनों में खराबी आने के चलते मतदाताओं को परेशानी हुई. वर्धाजिले में शाम पांच बजे तक 58 फीसदी मतदान हुआ था, जबकि 2009 के विधानसभा चुनाव में 65.42 फीसदी मतदान हुआ था. जिले के 10 लाख 40 हजार 244 मतदाताओं के लिए 1 हजार 300 मतदान केंद्र बनाए गए थे, जहां पर शांतिपूर्ण ढंग से मतदान प्रक्रिया पूरी हुई. संवेदनशील मतदान केंद्रों का जिलाधिकारी एन. नवीन सोना ने खुद जायजा लिया.

लोकसभा चुनाव में जो उत्साह युवाओं में था. वह उत्साह विधानसभा चुनाव में नहीं दिखा. जिले में 29 मतदान केंद्र संवेदनशील थे. लेकिन कहीं भी किसी प्रकार की अनुचित घटना नहीं घटी. पुलिस के उडन दस्ते ने संदेहास्पद वाहनों की कडाई से जांच की. यहां तक की जिन वाहनों पर ऑन इलेक्शन ड्यूटी का फलक लगा था. उन वाहनों को रोक कर उनकी भी जांच की गई. पहचान पत्र देखने के बाद ही वाहन को आगे जाने दिया गया.

आर्वी विधानसभा क्षेत्र के आर्वी, आष्टी शहीद और कारंजा घाड.गे में मतदान शांतिपूर्ण ढंग से हुआ. आष्टी शहीद में 58 फीसदी आर्वीतहसील में औसतन 65 फीसदी मतदान हुआ है.इस क्षेत्र में 15 प्रत्याशी थे. इस क्षेत्र में 310 मतदान केंद्र थे. देवली तहसील में 60.75 फीसदी मतदान हुआ. देवली में 19 प्रत्याशियों ने चुनाव लड़ा वर्धा तहसील में औसतन 50 फीसदी मतदान हुआ है. यहां से 21 प्रत्याशियों ने चुनाव लड़ा वर्धा निर्वाचन क्षेत्र में 341 केंद्र बनाए गए थे.

वर्धा के शिवाजी प्राथमिक स्कूल में मशीनों में तकनीकी खराबी आने से मशीन एक घंटे तक बंद रही. हिंगनघाट में 14 प्रत्याशी थे. मतदान केंद्रों की संख्या 324 थी. हिंगनघाट निर्वाचन क्षेत्र के समुद्रपुर तहसील में 70 फीसदी तक मतदान हुआ है.