Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Fri, May 8th, 2015
    Vidarbha Today | By Nagpur Today Vidarbha Today

    नागपुर : “जनता दरबार” में करीब 500 शिकायतें


    सबसे अधिक शिकायतें ना.सु.प्र.की – बावनकुले 

    Janta Darbar
    नागपुर। पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले ने बताया कि, सबसे अधिक शिकायते नागपुर सुधार प्रन्यास के बारे में आई है. उसके बाद राजस्व, भूमापन, महावितरण, महापारेशन कंपनी के बारे में बता रहे थे. उन्होंने कहां कि रविभवन में आयोजित जनता दरबार में सर्वसामान्य नागरिकों के प्रलंबित समस्या सीधे अधिकारियों से संपर्क करके सुलझाये जाते है.

    उन्होंने कहां की नागपुर शहर रोड पर एक लाख इलेक्ट्रिक पोल खड़े है. जिससे रोज दुर्घटना होती है ये सच है. उसके लिए आय.पी.डी.एस. योजना शुरू की जाएगी. इस पर 250 करोड़ का खर्च किया जायेगा. पायलट स्काडा योजना अमरावती शहर में सफल होने के बाद नागपुर शहर में ये शुरू की जाएगी. जनता दरबार में लगभग 450 से 500 शिकायते प्राप्त हुई है.

    एन.एस.डी.एल. संदर्भ में उन्होंने कहां की मंगलवार, बुधवार नागपुर में अचानक बिजली व्यवस्था खंडित हुई थी ये दुःख की बात है. इसके लिए महाजेनको एम.डी. नागपुर में आकर गए. ट्रान्सफार्मर, तार तोडना ये फौजदारी घटना है और इसकी जाँच होगी. सिव्हील लाईन विभाग महावितरण कंपनी ने टेक ओव्हर जरूर किया, लेकिन ये कुछ समय की कार्रवाई है. जाँच रिपोर्ट आने के बाद ही और नियम का उल्ल्ंघन पता चलने पर कार्रवाई की जाएगी. नागपुर शहर के स्मार्ट सिटी योजना में समावेश है. अनेक नागरिकों की समस्या उन्होंने सुनी और उपस्थित अधिकारियों को सौंपी.

    Pevtha Jalyukt Shiwar (1)
    जनता दरबार के पहले उन्होंने सुबह नागपुर ग्रामीण की पेवठा गांव के जलयुक्त शिवार अभियान की जाँच की. शिकायत अनुसार के नागपुर जिले के सभी शासकीय पद भरना, होमगार्ड समस्या, नागपुर सुधार प्रन्यास में लटके नागरिकों के कार्य, कलमेश्वर टेक्सटाईल मिल कामगारों की समस्या, शहर के 10 नागरी सहकारी पत संस्था के जमाकर्ता की समस्या, नागपुर शहर खादी ग्रामोद्योग मंडल सेवा मंडल सेवा केंद्र प्रारंभ करने के लिए कर्ज देना, इस संदर्भ में बैठक लेकर समस्यायों को सुलझाने का आदेश दिया गया.

    इस दौरान पुलिस, राजस्व, महावितरण, पानी पुरवठा, सार्वजनिक बांधकाम, उपविभागीय अधिकारी और तहसीलदार उपस्थित थे.


    Trending In Nagpur
    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145