Published On : Tue, Feb 28th, 2017

जिला परिषद का बजट 40 करोड़ का


नागपुर: चुनाव से पहले जिला परिषद का बजट मंगलवार को जिला परिषद परिसर स्थित खेड़कर सभागृह में पेश किया गया। वित्त समिति सभापति उकेश चव्हाण ने 2016-17 क संशोधित बजट व 2017-18 का प्रस्तावित बजट पेश किया। जिप के आय के प्रमुख स्रोतों व विभागीय जमा की प्रचलित दरों के मुताबिक पिछले तीन सालों में जमा निधि का वास्तविक आंकलन कर 2017-18 के लिए 35 करोड़, 43 लाख 40 हजार रुपए रखा है। इसमें 2016-17 का अखर्चित निधि 4.25 करोड़ रुपए मिलाकर कुल 39.68 करोड़ रुपए के बजट का प्रवधान किया गया है।

जिला परिषद के प्रमुख आय के स्रोतों में बाजार फीस, बढ़ाए गए उपकर, सामान्य उपकर व जमीन राजस्व, स्थानिक उपकर, जल उपकर, मुद्रांक उपकर शुल्क, स्थानिक उपकर के अनुदानों से 21.70 करोड़ रुपए मिलनेवाला अपेक्षित जमा है। इसमें से सन 2017-18 के बजट में शासन निर्देशानुसार समाज कल्याण विभाग व जलापूर्ती विभाग प्रत्येक को 20 प्रतिशत, महिला व बालकल्याण विभाग को 10 प्रतिशत व विकलांग कल्याण के लिए 3 प्रतिशत, कुल मिलाकर 53 प्रतिशत की आरक्षित निधि की व्यवस्था की गई है। इन तीन विभागों को आरक्षित निधि के अलावा शेष 9 विभागों को बचे हुए बजट की निधि उपलब्ध कराई जाएगी। इसके अनुसार 2017-18 के लिए 9 विभागों को मिलनेवाले बजट का विवरण इस प्रकार है।


रिपोर्ट, जिप बजट आदि का समावेश है।