Published On : Tue, Nov 4th, 2014

गोंदिया : 2500 किसान बिजली कनेक्शन के इंतजार में


आवेदन कर राशि का भुगतान करने के बावजूद नहीं मिल रहें कनेक्शन

गोंदिया। अल्प भूधारक किसानों को सिंचाई की सुविधा उपलब्ध कराकर उनकी आर्थिक स्थिती में सुधार लाने के उद्देश्य से सरकार ने जवाहर कुंआ योजना के अलावा रोजगार गारंटी योजना के तहत जिले के हजारो किसानो के खेतों में कुओं का निर्माण करवाया है. लेकिन महाराष्ट्र राज्य विद्युत वितरण कंपनी द्वारा लाभार्थी किसानों को सिंचाई के लिए खेतों में बिजली कनेक्शन नहीं दिए जाने के कारण इन कुंओं से उनके खेतों में सिंचाई नहीं हो पा रहीं है. जिसके चलते खेतों में बनाए गए कुंए केवल ‘शो पीस’ बनकर रह गए हैं. करीब ढाई हजार किसान बिजली कनेक्शन के इंतजार में है.

उल्लेखनीय है कि, जिले के अनेक किसानों ने सरकार की योजना के तहत अपने खेतों में कुंओ का निर्माण किया है. एवं उन पर विद्युत पंप लगाने के लिए नयम के तहत बिजली कनेक्शन के लिए विद्युत वितरण कंपनी के पास नियमानुसार आवेदन भी किए थे. आवेदन के पश्‍चात आवश्यक राशि का भुगतान भी कर दिया. इसके बावजूद कई किसानों को पिछले चार वर्षों से बिजली कनेक्शन नहीं दिए गए हैं. जिससे किसान काफी परेशान है.

जवाहर कुंआ योजना की सफलता को देखते हुए राज्य सरकार ने ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के अंतर्गत अल्पभूधारक किसानों के खेतों में कुंओ का निर्माण करवाया. जिसके लिए लाभार्थी किसानों को विभिन्न चरणों में 1.90 लाख रुपए का अनुदान दिया गया. लेकिन इतनी राशी में कुंओं का निर्माण कार्य पूरा न हो पाने के कारण अनेक किसानों ने बैंकों एवं साहूकारों से कर्ज लेकर कुंओ का निर्माण कार्य पूरा किया. एवं कुओं पर विद्युत पंप लगाने हेतु विद्युत वितरण कंपनी के पास आवेदन प्रस्तुत किए. इतना ही नहीं कंपनी द्वारा दिए गए निर्देश के अनुसार 6-6 हजार रुपए की राशि भी जमा कराई. लेकिन इसके बावजूद उन्हे अब तक विद्युत कनेक्शन नहीं दिए गए हैं. जिसके कारण खेत में कुंआ होने के बावजूद उन्हे सिंचाई की सुविधा नहीं मिल रहीं है.

किसानों को काटने पड रहे हैं चक्कर
जिले के ऐसे किसानों की संख्या लगभग 2500 है. वे विद्युत वितरण कंपनी कार्यालय के चक्कर काट-काट कर परेशान हो गए हैं. लेकिन उन्हें हर बार नए नए कारण बता कर वापस भेज दिया जाता है. किसानों ने राज्य सरकार एवं विद्युत विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों से इस मामले में दखल देकर उन्हें लंबित बिजली कनेक्शन दिलाने की मांग की है.
mahavitaran