Published On : Sat, Jun 22nd, 2019

जुआ खेलते 14 लक्ष्मीपुत्र धरे गए

गोंदियाः पुलिस कार्रवाई में डेढ़ लाख का माल जब्त

गोंदिया। युवाओं में बढ़ती जुए की लत बुद्धिजिवियों को यह सोचने पर विवश कर देती है कि, आखिरकार हमारा सभ्य समाज किस दिशा की ओर बढ़ रहा है? एक इमारत से 14 लक्ष्मीपुत्र कारोबारियों का जुआ खेलते पकड़ा जाना यह अपने आप में बताने के लिए काफी है कि, युवाओं के मध्य यह बुराई किस कदर घर कर चुकी है?

जुआ एक सामाजिक बुराई है बावजूद इसके गोंदिया शहर में कई अवैध जुए के अड्डे बेधड़क और बेखौफ चल रहे है।

खबरी से मिली पुख्ता जानकारी के बाद जिला पुलिस अधीक्षक विनीता साहू के निर्देश पर स्थानिक अपराध शाखा पुलिस दल ने पंच और गवाहों को साथ लेकर रेल्वे ओवर ब्रिज के निकट एक इमारत के बंद कमरे में चल रहे जुआ अड्डे पर 21 जून के रात छापामार कार्रवाई करते हुए तास पत्तों की मदद से तीन पत्ती, कटपत्ती और अंदर-बाहर जुआ पर हजारों का दांव लगा रहे 14 जुआरियों को धरदबोचा। पकड़े गए जुआरियों में अधिकांशः बड़े घराने के लक्ष्मीपुत्र बताए जाते है। पुलिस ने इनके पास से 12 स्मार्ट फोन भी जब्त किए है तथा फड़ में मौजुद 29 हजार 300 रूपये की नकद रकम व जेब तलाशी में बरामद राशि इस तरह कुल 1 लाख 40 हजार 100 रूपये का माल हस्तगत किया है।

सूत्रों से प्राप्त जानकारीनुसार रामनगर थाना अंतर्गत आने वाले रेल्वे ओवर ब्रिज के बाजू में एक कमरे के शेड के भीतर यह छुपे तौर पर यह जुआ का अड्डा चल रहा था। जिस वक्त पुलिस का छापा पड़ा उस वक्त दरी पर 2 गुटों में बैठकर जुआरी तास के पत्तों पर हारी-जीती का दांव लगा रहे थे, तभी भगदड़ मची।


हिरासत में लिए गए आरोपी सौरभ (27 रा. गुरूनानक वार्ड), दुर्गेश (25 रा. मरारटोली), मनीष (30 रा. आंबेडकर चौक कुड़वा), निलेश (20 रा. सुर्याटोला), आकाश (20 रा. रमाबाई वार्ड), गौरव (25 रा. सुर्याटोला), इजाज (25 रा. नुरी चौक सिविल लाईन), सोनु (30 रा. सुर्याटोला), मनिष (26 रा जोगलेकर वार्ड संजयनगर), जितेंद्र (22 रा. रमाबाई वार्ड), जयंत (24 रा. गौतमनगर), हितेश्‍वर (38 रा. कन्हारटोली), सुमित (25 रा. बब्बा भवन, श्रीनगर), लोकेश (21 रा. जोगलेकर वार्ड) के खिलाफ रामनगर थाने में फिर्यादी सहा. उपनि. कापगते की शिकायत पर धारा 4, 5 महाराष्ट्र जुआ एक्ट के तहत जुर्म दर्ज किया गया है।
यह छापामार कार्रवाई जिला पुलिस अधीक्षक विनीता साहु के मार्गदर्शन तथा पुलिस निरीक्षक दिनकर ठोसरे के नेतृत्व में सपोनि रमेश गर्जे, प्रमोद बघेले, सफौ विजय रहांगडाले, सुखदेव राऊत, गोपाल कापगते, पो.ह. भुवनलाल देशमुख, राजकुमार पाचे, तुलसीदास लुटे, नेवालाल भेलावे की टीम ने की।

….रवि आर्य