Published On : Wed, Dec 12th, 2018

मेट्रो का काम कर रही कंपनी आयएल एंड एफएस दिवालिया, ठेका रद्द

नागपुर: नागपुर मेट्रो रेल परियोजना में काम कर रही कंस्ट्रक्शन कंपनी आयएल एंड एफएस (इन्फास्ट्रक्चर लिजींग अॅण्ड फायनॅनशिअल सर्विसेस) दिवालिया हो चुकी है। कंपनी के इस हाल पर पहुँचने के बाद महा मेट्रो ने कंपनी का ठेका रद्द कर दिया है। बुधवार को महा मेट्रो के प्रबंध निदेशक बृजेश दीक्षित ने बताया की कंपनी से सभी करार को ख़त्म कर लिया गया है और कंपनी को दिए गए कामों को खुद मेट्रो अपने आतंरिक संसाधनों का इस्तेमाल कर पूरा करेगी।

कंपनी को नागपुर मेट्रो रेल परियोजना के अंतर्गत 10 स्टेशन के निर्माण का ठेका दिया गया था जिनमे से तीन खापरी,एयरपोर्ट और एयरपोर्ट साऊथ स्टेशन का निर्माण किया जा चूका है जबकि वर्धा रोड रूट ( रीच 1 ) में 7 और स्टेशनों का काम कंपनी को ही करना था। दीक्षित ने बताया कि मेट्रो बचे काम को खुद करने का प्रयास करेगी अगर यह संभव न हो पाया तो परियोजना के अंतर्गत ही काम करने वाली अन्य कंपनियों को काम का ठेका दिया जायेगा। कंपनी के दिवालिया होने का असर सिर्फ परियोजना पर ही नहीं पड़ा बल्कि इसका असर सैकड़ों कर्मचारियों पर भी पड़ा।

बीते चार माह से कंपनी अपने कर्मचारियों का भुगतान नहीं कर रही थी अपने बकाये की माँग को लेकर कर्मचारी 10 दिसंबर को मेट्रो के दफ़्तर के बाहर भी प्रदर्शन कर चुके है। इस कंपनी के पास व्हायडक्ट तैयार करने का भी काम था। वर्ष 2019 में परियोजना को शुरू करने देने की डेडलाइन एनएमआरसीएल द्वारा सुनिचित की गई है। ऐसे में इसका असर काम पर न पड़े इसलिए यह फैसला लिया गया है। नागपुर परियोजना में काम कर रहे कंपनी कर्मचारियों के बकाये का भुगतान महा मेट्रो के पास जमा बँक गॅरंटी के माध्यम से करने का विचार किया जा रहा है। दीक्षित ने बताया कि बकाये के भुगतान के लिए मेट्रो पर किसी भी तरह का अतिरिक्त आर्थिक बोझ नहीं पड़ेगा।