Published On : Mon, Sep 2nd, 2019

समाजसेवा में अपने आप को पूर्णता बहाकर ले जाने वाले कार्यकर्ता याने चरणसिंग – बावनकुळे

काटोल :- समाज के लिए स्वयम बहाकर ले जाने वाले कार्यकर्ता यांनी चरणसिंग ठाकुर यसा प्रतिपादन पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुळे इन्होंने किया . वह लक्ष्मीकमल मंगल कार्यालय काटोल में आयोजित चरणसिंग ठाकुर इनके षष्टब्दीपुर्ती सोहळे बोल रहे थे .

इस समय जिल्हाध्यक्ष डॉ राजीव पोतदार, पूर्व विधायक अशोक मानकर, आ. गिरीश व्यास, जि प के पूर्व शिक्षण सभापती उकेश चौहान, काटोल पंचायत समिती के पूर्व सभापती संदीप सरोदे, नरखेड पंचायत समिती के पूर्व सभापती राजेंद्र हरणे, नगराध्यक्षा वैशाली ठाकुर, उपाध्यक्ष जितेंद्र तुपकर, बांधकाम सभापती वनिता रेवतकर, आरोग्य सभापती किशोर गाढवे आदी उसी प्रकार बड़ी संख्या में नागरिक उपस्थित थे .

चरणसिंग ठाकुर इनका सत्कार पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुळे इनके हाथों किया गया .

चरणसिंग ठाकुर इनके अथक प्रयासों से आज काटोलचे नाम देश के पहले दहा शहरों स्वच्छ शहर के रूप में आया रहकर समाजसेवा का ध्यास लेकर वह दिन रात्र काटोल शहर के लिए काम करते रहते हैं उसी प्रकार काटोल विधानसभा क्षेत्र के रस्ते, पांधण रस्ते उसी तरह इत्यादी विकास कामो कर के लेने के लिए चरणसिंग महनत करते हुए दिखाई देते हैं बीस प्रतिशत राजकारण व अंशी प्रतिशत समाजकारण कर रहते हैं पारडसिंगा यह पर सती अनसूया माता संस्थान का कायापालट व विकास उन्होंने करके दिखाया है उनकों लंबी उमर मिले यसी शुभेच्छा इस प्रसंग में बावनकुळे इन्होंने दी .

सुबह से शुभेच्छा देने के लिए लोगों चरणसिंग ठाकुर इनके निवासस्थान तथा कार्यक्रम स्थल एकच गर्दी कि थी उसी प्रकार चरणसिंग इनके जन्म दिन के उपलक्ष्य में दि. १ सितंबर २०१९ रोज रविवार को सुबह १० बजे से विविध बांधकामो के भुमीपुजन कार्यक्रम आयोजित किए गए थे जिसमें प्रमुखता से संचेती लेआऊट यहां महात्मा ज्योतिबा फुले सभागृह , आॅरेंज प्लाझा खुली जगह पर चिंचे हाॅस्पिटल पिछे अहिल्याबाई होळकर सभागृह , श्रीराम नगर कबीर सभागृह के पास वाचनालय , डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर उद्यान यह पर जेष्ठ नागरिक योगा अभ्यास केंद्र , हत्तीखाना चौक यह समाजभवन बांधकाम , मातापार्क पेठबुधवार यह सामाजिक सभागृह , नबिरा लेआऊट यह पर चक्रवर्ती पवार राजाभोज बाल संस्कार भवन , भुडकानाला घरकुल के पास संत रविदास महाराज सभागृह , गिरी लेआऊट यह पर स्वामी समर्थ बाल संस्कार व आध्यात्मिक केंद्र दिंडोरी प्रणीत केंद्र , इन बांधकामो का भुमीपुजन संपन्न हुआ