Published On : Thu, Nov 14th, 2019

सिटी में बढने लगी ठंड

नागपुर. आसमान साफ होने के साथ ही सिटी में पारे में गिरावट का दौर शुरू हो गया है. समूचे विदर्भ में ठंड बढ़ने लगी है. पर फिलहाल ज्यादा असर सिटी में ही दिखाई दे रहा है. यहां पिछले 4 दिनों में न्यूनतम तापमान में करीब 4 डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज हुई है. बुधवार को सिटी का न्यूनतम तापमान 14.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से 2 डिग्री कम रहा. वहीं अधिकतम तापमान 30.4 डिग्री दर्ज किया गया. विदर्भ के अन्य सभी शहरों में भी रात का पारा सामान्य से नीचे चला गया है.

जिस प्रकार विदर्भ में बारिश 1 महीने देरी से आई लेकिन बाद में बरसने में कोई कसर नहीं छोड़ी उसी प्रकार नवंबर में हल्की ठंड रहेगी, लेकिन दिसंबर और जनवरी में जमकर अपना शबाब दिखाने का अनुमान है. हालांकि पिछले कुछ दिनों से बदराया मौसम होने के चलते ठंड तेजी से नहीं बढ़ पा रही है, लेकिन लोगों के लिए अपनी सेहत बनाने के दिन आ गए हैं. सुबह के समय घोर कोहरा छाया रहता है. वहीं दिनभर धूप के साथ ठंडी हवाएं भी चलती रहीं. सूर्यास्त होते ही ठंड भी बढ़ने लगी है. कई लोग को ठंड महसूस होने लगी है. इसी के साथ बुजुर्ग लोग स्वेटर पहनकर बाहर निकल रहे हैं. इस मौसम में जल्दी ही शाम होने के कारण शाम के 6 बजे अंधेरा होने लगा है. वहीं कई नागरिक इस हल्की ठंड का मचा बखूबी ले रहे हैं.

मार्केट में बढ़ी गर्म कपड़ों की डिमांड
ठंड के बढ़ते ही मार्केट में गर्म कपड़ों की डिमांड बढ़ गई है. सभी मॉल और दूकानों में ठंड से बचने के लिए ग्लब्स, मोजे, टोपी, स्वेटर, जैकेट, शाल, स्कार्फ आदि को दूकानों से सजाकर रखा है. सर्दी को देखते हुए बाजार में ग्राहकों की भीड़ उमड़ रही है. दूकानदारों ने भी ग्राहकों की पसंद को देखते हुए विभिन्न वेरायटी के गर्म कपड़े सजा लिए हैं. बाजार में सबसे ज्यादा दूकानें गर्म कपड़ों की ही लगी हैं. संडे बाजार में सबसे ज्यादा भीड़ महिलाओं की उमड़ती है. गरीब तबके के अलावा मध्यमवर्गीय लोग भी ठंड से बचने की तैयारी में जुट गए हैं.

उत्तरी हवाओं ने बदला मौसम
मौसम विभाग के अनुसार गोंदिया में न्यूनतम तापमान 16.0 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया. वहीं ब्रम्हपुरी में 16.3, यवतमाल- 17.0, वर्धा 17.1, गड़चिरोली व अमरावती में 17.4, अकोला- 17.5, बुलढाना-17.8, चंद्रपुर- 18.8 तथा वाशिम में 20 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. मौसम विभाग के अनुसार, पूर्वी मध्यप्रदेश में शीतलहर की स्थिति है. विदर्भ में भी कमोबेश यही स्थिति है. फिलहाल तापमान में विशेष परिवर्तन के आसार नहीं हैं. हवा का रुख उत्तरी होने से हिमालय की ओर से ठंड भरी हवाएं रही हैं. इसी का असर पूरे विदर्भ में देखा जा रहा है.