Published On : Fri, Sep 29th, 2017

विवादित वीसीए मैदान में मैच को पुलिस से मिली इजाज़त

VCA Stadium, Nagpur

नागपुर: कई तरह के संगीन आरोपों से घिरे वीसीए के जामठा मैदान में आगामी 1 अक्टूबर को पुलिस द्वारा मैच के आयोजन की अनुमति मिल गयी है। गौरतलब हो की नागपुर पुलिस ने मैच को सुरक्षा उपलब्ध कराने के लिए वीसीए से 22 बिंदुओं पर स्पस्टीकरण माँगा है जिसमे ऑक्युपेनी सर्टिफिकेट की माँग भी की गयी है। यह दस्तावेज़ मैदान के निर्माण की स्थिति को स्पस्ट कर देगा। इस मामले पर नागपुर पुलिस जॉइंट सीपी शिवाजी बोडखे और स्पेशल ब्रांच डीसीपी नीलेश भारने ने जानकारी दी की जिन 22 मुद्दों पर पुलिस द्वारा स्पस्टीकरण माँगा गया था उस पर वीसीए की तरफ से लिखित आश्वाशन प्राप्त हुआ है। इसी आधार पर इस मैच के लिए इजाज़त दे दी गयी है। मैदान के निर्माण से जुड़ा विवाद अब भी बरक़रार है इसी बीच मैच के आयोजन का रास्ता भी एक तरह से साफ हो गया है।

1अक्टूबर को भारत और ऑस्ट्रेलिया टीमों के बीच पेटीएम सीरीज में भिड़ंत होगी। शहर के बाहरी सीमा में बना विदर्भ क्रिकेट असोसिएशन का यह भव्य मैदान उस वक्त सुर्खियों में आया जब आरटीआई कार्यकर्त्ता टी एच नायडू,कमलेश शाह और अंकिता शाह ने आरटीआई के माध्यम से स्टेडियम निर्माण के संबंध में जानकारी माँगी। आरटीआई के माध्यम से मिली जानकारियों के आधार पर स्टेडियम के अवैध होने की बात इन कार्यकर्ताओ ने कही है । अब जब फिर एक बार इसी मैदान में क्रिकेट मैच होने जा रहा तब इन्ही आरटीआई कार्यकर्ताओ ने मैच के आयोजन पर सवाल उठाया है। टी एच नायडू के मुताबिक नियमो को ताक पर रखकर और रसूख का इस्तेमाल कर गलत ढंग से स्टेडियम का निर्माण किया गया है।

वीसीए जामठा का मैदान विवादित है जिस पर किसी भी तरह का आयोजन होना गैरकानूनी है। इस मैदान का नक्शा ही पास नहीं है। नायडू का कहना है उन्हें जो नक्शा दिया गया है उसमे इसको मंजूरी देने के मान्यता दिए जाने को साबित करते किसी भी तरह के सबूत नहीं है। निर्माणकार्य को मंजूरी देने के संबंध में राज्य माहिती आयोग के आदेश के बावजूद उन्हें जिलाधिकारी कार्यालय से अब तक किसी भी तरह के दस्तावेज़ नहीं दिए गए है। वही कमलेश शाह का कहना है कि नियमो को ताक पर रखकर सारा प्रशासकिय महकमा वीसीए का साथ दे रहा है। जिस जगह पर मैदान का निर्माण कार्य किया गया है उसे कभी गैरकृषि ( नॉन एग्रीकल्चर ) नहीं किया गया और न ही जमीन के व्यावसयिक इस्तेमाल की इजाज़त दी गई। जहाँ सामान्य आदमी को किसी भी आयोजन के लिए कई कड़े नियमों का पालन करना होता है वही वीसीए के साथ ऐसा कुछ नहीं दिखाई देता।