Published On : Mon, Apr 10th, 2017

वेस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड ने उत्पादन में बनाया रिकॉर्ड – सीएमडी


नागपुर:
 वेस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड ने वित्तीय मार्च 17 में कोयले के उत्पादन में 56 % की रिकॉर्ड वृद्धि दर्ज की है। सोमवार को नागपुर के श्रमिक पत्रकार भवन में आयोजित प्रेस से मिलिए कार्यक्रम में कंपनी के सीएमडी राजीव रंजन मिश्र ने अपनी उपलब्धियाँ गिनाई। इस दौरान पत्रकारों से रूबरू होते हुए मिश्र ने कहाँ WCL सामाजिक सरोकारों के साथ अपने सामाजिक दायित्व को निभाते हुए देश के विकास में उल्लेखनीय योगदान दे रहा है। मिश्र में मुताबिक वित्तीय वर्ष 2016 -17 में कंपनी ने 45 . 63 मिलियन टन का उत्पादन किया जो वित्तीय वर्ष 2015 -16 की तुलना में 30 प्रतिशत से अधिक है। इतना ही नहीं ओवर बर्डन को हटाने में 20 फीसदी से जबकि कोयले के प्रेषण में 15 . 2 % की वृद्धि हासिल की गयी।

कंपनी के भविष्य के निर्धारित लक्ष्य की जानकारी देते हुए कंपनी के सीएमडी ने कहाँ की वित्तीय वर्ष 2019 -20 के दौरान कंपनी की महत्वकांक्षा 60 मिलियन टन के उत्पादन की है।

समाज कार्यो में कंपनी ने किये उल्लेखनीय कार्य
कॉर्पोरेट सोशल रिस्पॉन्सबिलिटी के तहत कंपनी ने जल सहयोग ,के 2 के ,जलयुक्त शिवार जैसी योजनाओं पर काम किया गया। वेकोलि की के 2 के परियोजना को देश की 25 बेहतरीन परियोजनाओं के बीच गोल्ड अवार्ड से सम्मानित किया गया। सामाजिक कार्यो में अपनी हिस्सेदारी को बढ़ाते हुए कंपनी जल्द ही राज्य सरकार से एक करार करने की तैयारी में है जिसके अंतर्गत खदान से निकलने वाला पानी सिंचन के उपयोग के लिए सिंचाई विभाग को दिया जाएगा। मिश्र के अनुसार एमटीडीसी ( महाराष्ट्र टूरिज़म डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन ) के साथ मिलकर शुरू किया गया इको माइन पर्यटन अपने आप में अनोखा प्रयास है जिसकी तारीफ़ खुद प्रधानमंत्री कर चुके है।

आवास योजना के लिए भी सहयोग
वेस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड ने नागपुर सुधार प्रन्यास के साथ एक करार किया है। यह करार आवास योजना की सफलता के लिए किया गया है। इस करार के तहत कंपनी काम कीमत पर रेत एनआयटी को उपलब्ध करायी जाएगी। इस रेत को पॉवर प्लांट से निकलने वाली राख से मिश्रित कर सस्ती ईंट बनाई जाएगी।