Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

Nagpur City No 1 eNewspaper : Nagpur Today

| | Contact: 8407908145 |
Published On : Wed, Aug 14th, 2019
nagpurhindinews | By Nagpur Today Nagpur News

महा मेट्रो के लिटील वूड का निर्माण कर क्षेत्र को चमन बना दिया : संदीप जोशी

“वृक्ष रक्षा बंधन” महा मेट्रो व बेटी बचाओ, बेटी पढाओं का स्तुत्य उपक्रम

नागपूर: एमआयडीसी मार्ग स्थित महा मेट्रो द्वारा निर्मित लिटील वूड परिसर में प्रकृती और संस्कृती को रेशम की डोर से जोडनेवाला अनुठा कार्यक्रम वृक्ष रक्षाबंधन महाराष्ट्र लघुउद्योग व हातमाग विकास महामंडल के अध्यक्ष श्री. संदीप जोशी की प्रमुख उपस्थिती में संपन्न हुआ ! खुले आसमान में बारिश की हल्की फुहारों के बिच उपस्थित अतिथी एवं बहनों ने वृक्षो को रक्षा सूत्र (राखी) बांधकर वृक्षो का जतन और संवर्धन करने का संकल्प लिया ! रक्षाबंधन पर्व के निमित महा मेट्रो तथा बेटी बचाओ,बेटी पढाओ संस्था की ओर से संयुक्त रूप से इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया था ! कार्यक्रम के प्रारंभ में अतिथीगनो का तुलसी का पौधा तथा उपहार वस्तू देकर महा मेट्रो की ओर से सत्कार किया गया ! बेटी बचाओ,बेटी पढाओ संस्था की ओर से बहनों ने राखी बांधी !

उपस्थीतो को संबोधित करते हुए श्री.जोशी ने प्रत्येक नागरिक से एक वृक्ष लगाने तथा वर्षभर उसका जतन और संवर्धन करने का हितोपद्देश दिया ! उन्होने कहा कि आज की परीस्थीती में जलसंकट का सामना हमें करना पड रहा,आने वाले समय में भीषण परिस्थिती निर्माण होने के संकेत दिखाई दे रहे है ! पर्यावरण के संतुलन के लिए वृक्षारोपण करना निहायत जरुरी है ! श्री. जोशी ने कहा कि जलसंचय की स्थिती को देखते हुए दो दिन के अंतराल में पेयजल की आपूर्ती करने का निर्णय मनपा प्रशासन द्वारा लिया जारहा है ! उन्होने राज्य में उत्पन्न जलसंकट की विस्तृत जानकारी दी ! महा मेट्रो द्वारा लिटील वूड के निर्माण की सराहना करते हुए कहा कि महा मेट्रो द्वारा मेट्रो ट्रेन परियोजना का कार्य करते हुए इस परिसर को चमन बनाने का जो कार्य किया है यह निश्चित ही अभिनंदनीय है ! उन्होने नागरिकों से वृक्षो का नुकसान नही करने की अपील करते हुए कहा कि एक वृक्ष को काटना आसान है, लेकीन इसे लगाना और पोषण करना आसान नही है ! उन्होने अंत्येष्टीविधी में डिजलवाहिनी और वहां उपलब्ध कराई गई गोबरी का अधिकाधिक उपयोग करने का सुझाव दिया,ताकि दहन का प्रक्रिया में लकडी का उपयोग नगण्य हो सके !

Stay Updated : Download Our App
Mo. 8407908145