Published On : Sat, Jan 20th, 2018

Video: अधिकारी से मारपीट के विरोध में एनआयटी कर्मचारियों का प्रदर्शन


नागपुर: अधिकारी से कार्यालय परिसर में मारपीट की घटना के विरोध में शुक्रवार को एनआयटी के कर्मचारियों ने प्रदर्शन किया। सदर स्थित एनआयटी के मुख्य कार्यालय से पुलिस आयुक्तालय में मोर्चा निकाला गया। एनआयटी कर्मचारियों के एक दल ने शहर के सहायक पुलिस आयुक्त शिवाजी बोडखे को ज्ञापन सौपकर दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की माँग की है। गुरुवार को एनआयटी के वैशाली नगर स्थित ज़ोन कार्यलय परिसर में दोपहर साढ़े चार बजे के दरमियान सुनील मेश्राम नामक व्यक्ति ने अपने चार-पांच साथियो के साथ कार्यकारी अभियंता प्रमोद प्रभाकर धनकर पर हमला किया था। प्रमोद के मुताबिक घटना के समय वह कार्यालय परिसर में ही मौजूद थे। इसी दौरान पीछे से उन पर हमला किया गया। वह कुछ समझ पाते इससे पहले ही पीछे से चिल्लाते हुए आये सुनील मेश्राम ने उनसे कहाँ कि तू बार-बार मेरी फाइलों में अड़ंगा लगता है। यह बात कहते हुए सुनील और उसके साथियों ने मारपीट शुरू कर दी।

कार्यालय के अन्य कर्मचारी कुछ समझ पाते इससे पहले ही आरोपी मारपीट कर फ़रार हो गए। इस घटना के बाद प्रमोद धनकर ने पांचपावली थाने में मामला दर्ज कराया है। साथी अधिकारी के साथ मारपीट की घटना के विरोध में एनआयटी के सभी कर्मचारियों ने शुक्रवार को प्रदर्शन किया। ख़ुद एनआयटी चेयरमेन दीपक म्हैसकर ने पुलिस कमिश्नर के वेंकटेशम से फ़ोन पर बातचीत कर मामले को गंभीरता से लेते हुए आरोपी को जल्द गिरफ्तार किये जाने की अपील की है।


अधिकारी से मारपीट करने वाले सुनील मेश्राम का आपराधिक रिकॉर्ड भी सामने आया है। इससे पहले भी उसके द्वारा इसी कार्यालय में कई अधिकारियों से मारपीट और बदसलूकी किये जाने की जानकारी सामने आयी है। प्रमोद धनकर के अनुसार सुनील ने इससे पहले विभिन्न अधिकारियों पी एल कडू,एस इ गुज्जलवार, डी एम सोनवणे, नीलेश शेंडे, राजू लेकुरवारे,अविनाश गंदे से भी मारपीट की है। एस इ गुज्जलवार पर तो आरोपी ने उनके चेंबर में हमला कर तोड़फोड़ की थी।


अधिकारी की शिकायत के आधार पर पुलिस ने आरोपी सुनील मेश्राम के खिलाफ आयपीसी की धारा 353 के तहत मामला दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी है। पांचपावली थाने के पुलिस निरीक्षक आरोपी की खोज के लिए तीन दस्तों को काम पर लगाया है। आरोपी जरीपटका थाना के अंतर्गत रहता है इसलिए उसे ख़ोजने के लिए इस थाने की भी मदत ली जा रही है। साथ की आरोपी के पुराने रिकॉर्ड भी खंगाले जा रहे है।
अपने प्रदर्शन के दौरान एनआयटी कर्मचारी और अधिकारियो ने काम से दौरान सुरक्षा की माँग पुलिस से की है।