Published On : Wed, Nov 30th, 2022
nagpurhindinews | By Nagpur Today Nagpur News

Video गोंदिया: ग्राम पंचायत चुनावों से पहले नक्सलियों ने चिपकाए बैनर- पोस्टर

सालेकसा तहसील के ग्राम गोरे और पांढरवानी इलाके में वृक्षों पर बंधे मिले बैनर्स

गोंदिया; नक्सल प्रभावित गोंदिया जिले में माओवादी गतिविधियां शुरू होने के संकेत मिले है यहां सालेकसा तहसील में लंबे अरसे के बाद नक्सलियों ने बैनर पोस्टर लगाकर इलाके में अपनी उपस्थिति दर्ज कराते हुए जिला पुलिस प्रशासन को चुनौती दी है।

Advertisement

माना जा रहा है कि माओवादी ग्राम पंचायत चुनावों के मद्देनजर इलाके में अपनी पकड़ बनाने के लिए किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की फिराक में हो सकते हैं ?
दर्रेकसा अंतर्गत आने वाले ग्राम गोरे और पांढरवानी के आसपास क्षेत्र में नक्सलियों ने लाल कपड़े के बैनर्स बांधकर सनसनी फैलाने की कोशिश की है।

ऐसा लगता है कि यह बैनर दर्रेकसा नक्सल दलम एरिया कमेटी द्वारा लगाए गए हैं , बरामद कपड़े के बैनर पोस्टर में PLGA जनमुक्ति छापामार सेना और नव उदारवादी सेना का जिक्र है जो क्षेत्र के अंदरूनी हिस्से में सक्रिय है जिसका मकसद ग्राम पंचायत चुनावों में कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) का दबदबा कायम करने तथा षड्यंत्र रचने का हो सकता है इसके चलते इन गांवों में सुरक्षा के लिहाज़ से गश्त बढ़ा दी गई है और पुलिस बैनर पोस्टर चिपकाने वालों को चिन्हित करने में जुटी हुई है।

बता दें कि गढ़चिरौली जिले में सबसे ज्यादा घटनाएं होती हैं जबकि उस से सटे हुए गोंदिया जिले को नक्सल रेस्ट जोन के रूप में जाना जाता है ।

ग्राम पंचायत चुनावों के ठीक पहले चिपकाए गए इन बैनर्स से नागरिकों के बीच भय का वातावरण निर्माण हो गया है।


इसी बीच दोनों गांवों में वृक्षों और सड़कों पर लगाए गए बैनर पोस्टर को हटा दिया गया है , इलाके में किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए पुलिस ने पुख्ता इंतजाम शुरू कर दिए हैं। फिलहाल पुलिस की सतर्क टीम ने इलाके के घने जंगलों में सावधानी साथ तलाशी अभियान तेज कर दिया है तथा जिले के आला पुलिस अधिकारी हालात पर पैनी नजर बनाए हुए हैं।

रवि आर्य

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

 

Advertisement
Advertisement
Advertisement