Published On : Wed, Nov 15th, 2017

पृथक विदर्भ के लिए विदर्भ राज्य परिषद का आयोजन


नागपुर: पृथक विदर्भ की मांग को लेकर अब केंद्रीय सामाजिक न्याय राज्यमंत्री रामदास आठवले की रिपब्लिकन पार्टी ऑफ़ इंडिया भी सक्रिय हो चुकी है. 19 नवंबर को डॉ. वसंतराव देशपांडे सभागृह में विदर्भ राज्य परिषद का आयोजन किया जा रहा है. इस परिषद के उद्घाटक रामदास आठवले रहेंगे. यह जानकारी रविभवन में आयोजित पत्र परिषद में आरपीआई के महाराष्ट्र प्रदेश अध्यक्ष भूपेश थुलकर ने दी. पत्र परिषद में राजन वाघमारे भी मौजूद थे. थुलकर ने बताया कि भाजपा पहले से ही पृथक विदर्भ के समर्थन में है.

मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और वित्त मंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने 2010 में विदर्भ के समर्थन में ही जनजागर यात्रा निकाली थी. केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और दिवगंत नेता गोपीनाथ मूंडे ने आश्वासन दिया था कि उनकी सरकार आने के बाद पृथक विदर्भ देंगे. अब विदर्भ काफी सक्षम है. जिसके कारण अब विदर्भ का प्रस्ताव दिया जाएगा. इस परिषद में विदर्भ राज्य के निर्माण का प्रस्ताव दिया जाएगा और यह प्रस्ताव केंद्र सरकार को भी भेजा जाएगा.

थुलकर ने कहा कि कुछ सालों से विदर्भ के लिए सभी विभिन्न पार्टी और संगठन के नेता समर्थन देते तो हैं लेकिन सक्रियता नहीं दिखाते हैं. लेकिन इस परिषद के माध्यम से सभी को सक्रिय किया जाएगा. 19 नवंबर को होनेवाली परिषद में पृथक विदर्भ की मांग पर मार्गदर्शन करने के लिए अध्यक्ष विदर्भ विकास परिषद सांसद दत्ता मेघे, विदर्भ राज्य समिति के अध्यक्ष एडवोकेट श्रीहरि अणे, पूर्व मंत्री अनिल देशमुख, डॉ.नितिन राऊत, विधायक रवि राणा, अनिल बोंडे, आशीष देशमुख, विदर्भ राज्य आंदोलन समिति के मुख्य संयोजक राम नेवले, आदिम जाति संगठन की नंदा पराते, विदर्भ माझा के अध्यक्ष राजकुमार तिरपुडे, पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव डॉ. मोहनलाल पाटिल, पूर्व विधायक अनिल गोंडाने, संगठक भीमराव बंसोड़, आदिवासी आघाडी के एल.के. मड़ावी उपस्थित रहेंगे.