Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Mon, Nov 11th, 2019

    वेंडरो के लिए महा मेट्रो मे अपार संभावनाए, औद्योगिक विकास को मिल रही है गति – डॉ.दीक्षित

    नागपुर– महा मेट्रो रेल परियोजना सर्वांगीण विकास के साथ-साथ उद्योग और रोजगार के अच्छे अवसर उपलब्ध करा रही है. यह परियोजना बहुमुखी है. नागपुर की 300 से अधिक कंपनियां महा मेट्रो मे कार्य कर रही है. इनके अलावा मुंबई,पुणे के अनेक औद्योगिक इकाईयां यहां मटेरियल सप्लाय कर रही है . उक्त विचार महा मेट्रो के प्रबंध निदेशक डॉ. ब्रिजेश दीक्षित ने व्यक्त किए. वे सिविल लाईन्स स्थित उद्योग भवन सभागृह, मे आयोजित वेंडर विकास कार्यक्रम मे उपस्थितों को संबोधित कर रहे थे. चेंबर ऑफ स्मॉल इंडस्ट्रीज असोसिएशन (कोसिया),एमआयडीसी इंडस्ट्रीज असोसिएशन (हिंगणा),जिला उद्योग केंद्र के तत्त्वज्ञान में तथा महा मेट्रो के सहयोग से वेंडर डेव्हलपमेंट कार्यक्रम का आयोजन किया गया था .

    डॉ.दीक्षित ने कहा कि महा मेट्रो रेल परियोजना का कार्य पिछले 4 वर्षो से महानगर में चल रहा है .परियोजना के माध्यम से शहर का एतिहासिक विकास हो रहा है . 10 हजार करोड से अधिक लागत के कार्य निर्धारित अवधि मे पूर्ण होने की दिशा मे प्रयास किए जा रहे है. उन्होने कहा कि, अभी भी समय है परियोजना के द्वारा औद्योगिक विकास और रोजगार कि अपार संभावनाए है. महा मेट्रो परियोजना के द्वितीय चरण का कार्य प्रस्तावित है. यह कार्य सतत जारी रहेगा . इसके अलावा यहां के वेंडरों के लिए पुणे, नासिक, ठाणे में भी कार्य करने के अच्छे अवसर है.

    प्रबंध निदेशक ने कहा कि नागपूर मेरा दिल है. केंद्र और राज्य सरकार के सहयोग से अनेक परियोजना यहां आने वाले है. महा मेट्रो परियोजना नागपूर औद्योगिक क्षेत्र के उद्योजकों के लिए स्वर्णिम अवसर होने का जिक्र करते हुए कहा कि मेट्रो रेल में छोटे-बडे पार्टस के निर्माण की दिशा में पहल की जाए तो निश्चित ही औद्योगिक विकास को गति मिलेंगी और रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे. नागपूर की परियोजना में जिनका लाभ औद्योगिक क्षेत्र को उठाना चाहिए था, वह नही उठा पाए,अब भी वक्त है, संयुक्त रूप से किए गए प्रयासों के माध्यम से औद्योगिक क्षेत्र में नई चेतना का संचार किया जा सकता है.

    उपस्थितों का ध्यान आकर्षित करते हुए डॉ.दीक्षित ने कहा की नागपूर मेट्रो कोच फैव्टरी लगाने की दिशा में पहल की जा रही है .इसका डीपीआर बनाने कि दिशा में कार्य किया जा रहा है.सभी अनुकूल परिस्थिती बनी हुई है .भविष्य की जरूरतों को देखते हुए मेट्रो कोच फैव्टरी की आवश्यकता व्यक्त की जा रही है .मेट्रो रेल सेवा पुरे देश के महानगर और बडे शहरों में प्रारंभ की जा रही है.

    प्रबंध निदेशक ने कहा कि कोच फैव्टरी नागपूर ही नही विदर्भ,महाराष्ट्र और देश के लिए वरदान साबित होगी . औद्योगिक क्षेत्र से जुडे लोगों को सुझाव देते हुए कहा कि महा मेट्रो के संचालक में समय समय पर सिग्नलिंगऔर विद्युत उपकरणो की आवश्यकता होती है. वेंडर इस दिशा में भी प्रयास करे तो अच्छे निष्कर्ष निकल सकते है. कार्यक्रम का शुभारंभ कार्यशाला के मुख्य अतिथी डॉ. ब्रिजेश दीक्षित एमएसएमई के निदेशक पी.एम.पार्लेवार ने दीप प्रज्वलित कर किया. कार्यशाला मे महा मेट्रो की ओर से उपस्थित वरिष्ठ अधिकारियों ने भावी वेंडरो का मार्गदर्शन किया .

    दिनभर वेंडर रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया जारी रही. कार्यक्रम का संचालन एस.एम.पटवर्धन, स्वागत पर्व भाषण एमआयए अध्यक्ष. शेगांवकर, कार्यक्रम की प्रस्तावना कोसिया के अध्यक्ष .मयंक शुक्ला ने व आभार प्रदर्शन संदीप दारव्हेकर ने किया. प्रास्ताविक भाषण गजेंद्र भारती ने दिया. मयंक शुक्ला इन्होने कहा कि डॉ.दीक्षित का इस समारोह मे उपस्थित होना उपस्थित उद्योजक के लिए प्रेरणादायी साबित होगा.


    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145