Published On : Mon, Oct 25th, 2021
nagpurhindinews | By Nagpur Today Nagpur News

बुद्ध वंदना के साथ कोराडी मे वर्षावास का समापन

नई-कोराडी: स्थानीय सिद्धार्थ बुद्ध संघ और संघदीप बौध विहार के संयुक्त तत्वावधान में उत्साह पूर्वक वर्षावास का समापन हुआ।समारोह मे संयोजक भन्ते प्रज्ञाप्रिय की विशेष उपस्थिति में 23 अक्टूंबर को सुबह 9 बजे धम्मध्वजा रोहण के पश्चात बुद्ध वन्दना,परित्राणपाठ,धम्मदेशना प्रवचन, के बाद 10 बजे पूज्य निक्कू संघास संघदान,11 बजे भिक्कू संघास भोजनदान एवं 11-30 बजे बौध उपासक उपासिकाओं एवं अतिथिगणों को भोजनदान कराया गया।
मुख्य अतिथि के रूप में पूर्व पालक मंत्री चंद्रशेखर बावनकुले की उपस्थिति सराहनीय रही।प्रमुख रुप से नगराध्यक्ष राजेश रंगारी,सरपंच नरेन्द्र धनोले,उपसरपंच आशीष राउत,एवं सभी नगरपार्षद व ग्राम सदस्यों ने समारोह में उपस्थिति दर्ज की।

वर्षावास का शुभारंभ आषाढी पूर्णिमा 24 जुलाई को हुआ जिसका समापन 23 अक्टूंबर को सम्मपन्न हुआ।इस दौरान भगवान बौध के पंचशील नियमों का अनुसरण अनुकरण तथा अनुगमन के संबंध मे बौध उपासक भन्ते भिक्कूओं ने ज्ञानोपदेश दिया।जिसे सुनकर सभी उपासक उपासिकाओं एवं अतिथिगण ने साधुवाद देकर आभार व्यक्त किया।इस अवसर पर संघदीप बुद्ध विहार कोराडी के अध्यक्ष दिलीप वाघमारे,कार्याध्यक्ष राजेश रंगारी, उपाध्यक्ष युवराज वाघमारे,सचिव विजय वाघमारे, सह सचिव रतनदीप रंगारी, राजेन्द्र सोमकुवर, कोषाध्यक्ष नितिन तागडे, सदस्यों मे किशोर सोमकुवर राधेश्याम वाघमारे, रोहित वंजारी,जयंत रंगारी,मनीश मेश्राम,विशाल बारमाटे,आदि ने बढचढकर हिस्सा लिया।उसी तरह सुगत सार्वजनिक वाचनालय कोराडी के सभी पदाधिकारियों तथा सदस्यगण उपस्थिति थे।इस मौके पर सभी विद्धान महिला व पुरुष उपासकों ने अपने विचार व्यक्त किये।

समारोह के शुभारंभ में भगवान सिद्धार्थ गौतम बुद्ध,भारत रत्न डा बाबासाहब आंबेडकर और रमाताई आंबेडकर की प्रतिमा को पुष्पमाल्यार्पण किया गया।पश्चात सुगत सार्वजनिक वाचनालय के अध्यक्ष पन्नालाल रंगारी, उपाध्यक्ष चंद्रमणी वाघमारे, कोषाध्यक्ष विनोद रंगारी आदि के हाथों अतिथिगणों का स्वागत किया गया।कार्यक्रम के सफलतार्थ प्रणाली रंगारी,रंजना वाघमारे, कविता वाघमारे,दर्शना रंगारी,माया मेश्राम,माया बारमाटे,रतनमाला बारमाटे,माया तागडे,सविता बोरकर, अर्चना उके, शिल्पा रंगारी,डा कोकाटे,शोभा भालाधरे,वंदना वासनीक,लीला वाघमारे आदि ने अथक प्रयास किये।