Published On : Wed, May 6th, 2020

तीन दिवसीय पुलकोत्सव पर विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन

नागपुर : अखिल भारतीय पुलक मंच परिवार द्वारा तीन दिवसीय पुलकोत्सव का आयोजन 9, 10 तथा 11 मई को किया गया है. भारत गौरव राष्ट्रसंत आचार्यश्री पुलकसागरजी गुरुदेव 50 वे अवतरण दिवस पर विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया गया है. देश मे जारी लॉकडाउन के मद्देनजर सभी भक्तों को अपने अपने निजी निवास पर कार्यक्रम करना है. कर्यक्रम के दौरान कोई भी व्यक्ति सडक पर ना आये, ना ही सडक पर प्रदर्शन करना है. हमे लॉकडाउन मे प्रशासन का पूर्ण सहयोग करना है.

आचार्यश्री पुलकसागरजी गुरुदेव के मीडिया प्रभारी रमेश उदेपुरकर ने बताया 9 मई से 11 मई तक विभिन्न कार्यक्रम अखिल भारतीय पुलक मंच परिवार के राष्ट्रीय अध्यक्ष विनोद फांदोत, मीना झांझरी के मार्गदर्शन मे और प्रदीप जैन, बीना टोंग्या के संयोजन मे होंगे. शनिवार 9 मई को अहिंसा प्रसादी का कार्यक्रम स्थानीय प्रशासन के साथ मिलकर करना है. रविवार 10 मई को *स्वरांजलि प्रतियोगिता* होगी जिसमे परिवार एवं सदस्य गुरुदेव पर लिखित अपने मनपसंद भजन गाए और स्वरबद्ध वीडियो श्रीमती पूनम विनायका को वाट्सएप करे. *चित्रांजलि प्रतियोगिता* मे गुरुदेव के जीवन चारित्र, दर्शन पर अपनी कल्पनाओं को चित्रांकन कर उसका फोटो सीमा गंगवाल को वाट्सएप् करे. *नृत्यांजलि प्रतियोगिता* गुरु भजनों पर आधारित परिवार के सदस्य नृत्य तैयार कर उसका वीडियो नीता जैन को वाट्सएप करे.

रंगोली प्रतियोगिता* अपने घर के आंगण को रंगोली से सजाये और रंगोली का फोटो अंजना गंगवाल को वाट्सएप करे. *भावांजलि प्रतियोगिता* गुरुदेव पर लिखित प्रश्नावली के उत्तर देने है.स्थानीय शाखा अध्यक्ष या इंदिरा बडजात्या से संपर्क कर सकते है. *काव्यांजलि* 10 मई को शाम 7:30 बजे से फेसबुक पर कवि संमेलन होगा. कवि संमेलन के सूत्रधार बलवंत जैन बल्लू ऋषभदेव है, आमंत्रित कवि सौरभ जैन ‘सुमन’, अनामिका ‘अंबर’, सोनल जैन सुरत, प्रकाश नागोरी, अब्दुल गफ्फार, डॉ. कमलेश जैन ‘बसंत’, विप्लव जैन के द्वारा काव्य पाठ होगा.


11 मई को *पूजांजलि* गुरुदेव का पूजन, विधान, जयमाला एवं आरती होगी. सभी सदस्य सुबह 8 बजे से 10 बजे तक अपने निवास स्थान पर आचार्य गुरुदेव का विधान, पूजन एवं आरती संपन्न कर गुरुदेव के श्रीचरणो मे अपनी भक्ति दर्शाये. वीडियो तैयार कर अनामिका बाकलीवाल को वाट्सएप करे. *विनयांजलि* धर्माचार्यो एवं विशिष्ठ गणमान्यों द्वारा गुरुदेव के प्रति भावोद्बोधन का प्रसारण पारस चैनल से होगा. *गुरु ज्ञानांजलि* गुरुदेव के अमृत उद्बोधन एवं दिगंबर साधु-साध्वी सेवा प्रकोष्ठ का लोकार्पण होगा जिसका प्रसारण पारस और जिनवाणी चैनल से प्रसारित होगा.

सर्वश्रेष्ठ विजेताओं को प्रथम, द्वितीय, तृतीय पुरस्कार राष्ट्रीय अधिवेशन मे वितरित होंगे. अधिक जानकारी के लिये राष्ट्रीय कार्याध्यक्ष अंकित जैन ‘प्रिन्स’, मनोज बंड, डॉ. रिचा जैन से संपर्क की अपील की गई है.