Published On : Tue, Feb 28th, 2017

विद्यापीठ प्रशासन ने मानी विद्यार्थियों की 45 मांग, 7 पर राज्य सरकार लेगी निर्णय

Nagpur University
नागपुर:
राष्ट्रसंत तुकड़ोजी महाराज नागपुर विद्यापीठ हमेशा से ही अपने कार्यभार को लेकर चर्चा में रहता है। विद्यापीठ की कार्यशैली को लेकर विद्यार्थी और प्रशासन कई बार आमने-सामने भी आ चुके हैं। पिछले साल 2016 में नागपुर विद्यापीठ के विद्यार्थियों की ओर से विभिन्न मांगो को लेकर आंदोलन किया गया था। जिसमे सभी संकाय के सैकड़ों की तादाद में विद्यार्थी सड़क पर उतरे आए थे।

हाथों में फलक लेकर विद्यार्थियों ने विद्यापीठ प्रशासन का विरोध किया था। विद्यार्थियों ने इस आंदोलन के तहत अपनी 52 प्रमुख मांगें विद्यापीठ प्रशासन के सामने रखी थी। जिसमें से अब तक 45 मांग विद्यापीठ प्रशासन ने मान ली है। शेष 7 मांग राज्य सरकार के पास विचाराधीन हैं।

परीक्षा शुल्क कम करना, परीक्षा के बाद नियमानुसार 45 दिनों में रिजल्ट निकाला जाए, यह प्रमुख मांगे विद्यार्थियों की ओर से रखी गई थी। 45 मांगें मानने के बाद आनेवाले दिनों में बची मांगें भी मानी जायेगी। ऐसी उमीद विद्यार्थियों की ओर से जताई गयी है।