Published On : Wed, Jul 5th, 2017

संघप्रमुख से मिली केंद्रीय मंत्री उमा भारती, मुलाकात को बताया औपचारिक

Uma Bharti and Mohan Bhagwat
नागपुर:
 केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने बुधवार को संघप्रमुख डॉ मोहन भागवत से मुलाकात की संघ मुख्यालय में करीब 15 मिनट की दोनों के बीच बातचीत हुई। मुलाकात के बाद संवाद माध्यमों से बात करते हुए जल संसाधन मंत्री ने कहाँ की संघ प्रमुख से वह राजनितिक विषयों पर बात नहीं करती यह उनकी संघ प्रमुख से सामान्य मुलाकात थी। संघप्रमुख उनके लिए पितातुल्य है जबकि मा जो वैद्य गुरु है। गुरुपूर्णिमा के निमित्त अपने गुरु का आशीर्वाद लेने वह आज नागपुर आयी है।

पत्रकारों से बात करते हुए भारती ने कहाँ राष्ट्रपति पद को लेकर राजनीतिक बयानबाजी से सभी दलों को परहेज करना चाहिए। उनके अनुसार राष्ट्रपति पद सदैव राजनीति से परे रहा है अब भी रहना चाहिए। पूर्व राष्ट्रपति के आर नारायणन के कार्यकाल को याद करते हुए उन्होंने कहाँ की राष्ट्रपति हमेशा सत्ता से साथ खड़े नहीं रहते है। उनके कार्यकाल के दौरान प्रधानमंत्री नरसिंहराव की सरकार ने जब उत्तरप्रदेश की सरकार को बर्खास्त करने का निर्णय लिया था तब राष्ट्रपति ने ही उस फैसले को टर्नआउट किया था। नारायणन कांग्रेस के थे पर राष्ट्रपति पद पर वह राजनीति से ऊपर थे। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहाँ कि आतंकवाद के विरोध में विश्व के सभी देशो का साथ आना जरुरी है। प्रधानमंत्री फ़िलहाल इजराईल के दौरे पर है यह अहम दौरा है। चीन को चुनौती देने में मोदी सक्षम है।

दौरे के दौरान बिगड़ी उमा भारती की तबियत
नागपुर दौरे पर आयी उमा भारती की तबियत अचानक ख़राब हो गयी। उन्हें पीठ दर्द की शिकायत महसूस होने पर तुरंत सरकारी चिकित्सक को बुलाया गया। उमा रवि भवन में ठहरी हुई थी वही इंदिरा गाँधी सरकारी अस्पताल की महिला डॉक्टर ने उनकी जाँच की। उनकी तबियत को देखते हुए उन्हें भर्ती करने की बात भी हो रही थी लेकिन प्राथमिक जाँच के बाद जल्द ही आराम महसूस होने पर इसकी नौबत ही नहीं आयी।