Published On : Tue, Oct 29th, 2019

उदयनगर चौक पर अपराधियों ने एक युवक को मौत के घाट उतार दिया.

नागपुर. हुड़केश्वर थानांतर्गत उदयनगर चौक पर रविवार की रात अपराधियों ने एक युवक को मौत के घाट उतार दिया. कुछ लोगों ने घटना को राजनीतिक रंग देने की कोशिश की. इससे परिसर का माहौल बिगड़ने लगा. पुलिस ने एक मुख्य अपराधी को गिरफ्तार कर लिया है.

उसके साथियों की तलाश जारी है. मृतक संजय गांधीनगर निवासी जीतेंद्र उर्फ जीतू वासुदेवराव वड़े (29) बताया गया. जीतू निजी अस्पताल में आपरेशन थियेटर में बतौर टेक्निशियन काम करता था. वह भाजपा का सक्रिय कार्यकर्ता था और भाजयुमो में पदाधिकारी भी था. एक अपराधी ने स्थानीय नेता को बधाई देने के लिए उदयनगर चौक पर पोस्टर लगवाया था. जीतू ने रविवार रात पोस्टर से अपराधी का फोटो फाड़ दिया. रात 12.10 बजे के दौरान जीतू अपने दोस्त रितिक डेंगे और अभिजीत खरात के साथ उदयनगर चौक पर खड़ा था.

इसी दौरान प्रसाद अपने 5 साथियों के साथ दुपहिया वाहनों पर वहां पहुंचा. प्रसाद के दोस्त की रितिक के साथ बहस हो गई. जीतू बीचबचाव के लिए आगे आया. इसी दौरान प्रसाद के साथ उसकी झड़प हो गई. प्रसाद और उसके साथियों ने हथियार निकालकर जीतू को मारना शुरू कर दिया. उसके हाथ और छाती पर चाकू जैसे हथियार से वार किया गया. रितिक ने आरोपियों को रोकने का प्रयास किया तो उसके साथ भी मारपीट की गई.

जीतू वहीं खून से लथपथ ढेर हो गया. आरोपी घटनास्थल से भाग निकले. घटना की जानकारी पुलिस को दी गई. जीतू को उपचार के लिए अस्पताल ले जाया गया, लेकिन डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. खबर मिलते ही डीसीपी राहुल माकणीकर, हुड़केश्वर के थानेदार संदीप भोसले और क्राइम ब्रांच की टीम मौके पर पहुंची. पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी.

गंगाबाई घाट चौक पर दबोचा
हुड़केश्वर पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीमें अपराधियों की तलाश में जुटी हुई थी. यूनिट 3 के हेड कांस्टेबल श्याम कड़ू को जानकारी मिली कि प्रसाद गंगाबाई घाट चौक के आसपास देखा गया है. तुरंत यूनिट 3 की टीम ने परिसर में घेराबंदी करके प्रसाद को गिरफ्तार किया.

प्रसाद ने पुलिस को बताया कि उसके दोस्त का जीतू के दोस्त के साथ विवाद हुआ था. बीचबचाव करते समय विवाद बढ़ गया. हालांकि जानकारी मिल रही है कि प्रसाद मानेवाड़ा के अपराधी का नंबरकारी है. उसके बारे में जीतू ने कुछ अपशब्द कहे थे और पोस्टर फाड़ा था. प्रसाद के खिलाफ चेन स्नैचिंग, मारपीट सहित 16 मामले दर्ज हैं. फिलहाल वह वैभव राठोड़ के साथ शराब तस्करी के धंधे में लिप्त है. पूरी घटना चौराहे पर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई है. अन्य आरोपी भी फुटेज में कैद हुए हैं. फरार आरोपियों की तलाश पुलिस कर रही है.