Published On : Wed, Nov 12th, 2014

पवनी : जानवरों से लदे ट्रक ने युवक को रौंदा


गुस्साए नागरिकों का पुलिस के खिलाफ नारेबाज़ी-चक्काजाम, ट्रैवल्स की बसें बनी वजह!

Truck Accident
पवनी (भंडारा)।
भंडारा ज़िले के पवनी में जवाहर गेट के सामने मंगलवार की सुबह जानवर से लदे ट्रक ने युवक को रौंद दिया. उस युवक की घटनास्थल पर ही मौत हो गई.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, सुबह 8.30 बजे पवनी के रामपुरी वार्ड निवासी अनिल सानगड़ीकर (32) साइकिल से अपने घर जा रहा था. इस दौरान जवाहर गेट के सामने रायपुर की ओर से आने वाले ट्रक क्र. सीजी 041 एन 3187 ने उसे रौंदकर आगे कूच कर गया. इससे अनिल की तत्काल मौत हो गई. गेट के सामने खड़ी ट्रेवल्स की बसों की वजह से आ रहा ट्रक उसे नहीं दिखाई दिया और वह ट्रक की चपेट में आ गया. इस हृदय विदारक घटना को देखकर नागरिक आगबबूला हो गये. उन्होंने चक्का जाम कर दिया और पुलिस और यातायात विभाग के खिलाफ नारेबाज़ी की. वे जवाहर गेट और बस स्थानक के 200 मीटर दूरी पर निजी वाहन खड़े करने की माँग करते हुए शव को हाथ लगाने नहीं दिया.

Truck Accident
बताया जाता है कि अनिल के परिवार में माँ, पत्नी, पुत्र (5), बेटी (3 माह) है. नागरिक मृतक के परिवार को तुरंत आर्थिक मदद देने, रेत चोरी के लिए इस्तेमाल में लाये जाने वाले वाहनों पर कार्रवाई करने और सभी वाहनों के लिए गति-सीमा निर्धारित करने की माँग पर काफी हंगामा खड़ा किया. दोपहर करीब 12.30 बजे उपविभागीय अधिकारी संतोष कुंभारे की मध्यस्थता के बाद नागरिक पुलिस को पोस्टमार्टम के लिए लाश देने पर सहमत हुए. इसके बाद मृतक का पोस्टमार्टम कर शव परिवार को सौंपा दिया गया. घटना की गंभीरता को भांपते हुए पवनी के थानेदार नागरे और अड्याल के थानेदार अजबराव नेवारे सहित बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात थे. समझा जाता है कि पवनी की यातायात व्यवस्था चरमराई हुई है वहीं रेत माफिया भी दुर्घटनाओं के लिए अहम माने जा रहे हैं. आम जनता व्यवस्था की सुधार के साथ रेत माफियाओं की नाक में नकेल कसने की पुरजोर मांग कर रहे हैं. अब सवाल उठ रहा है कि क्या यातायात व्यवस्था में कोई सुधार होगा या फिर अनिल जैसे निरपराध लोग कुचले जाते रहेंगे?
Truck Accident