Published On : Tue, Mar 14th, 2017

मेट्रो परियोजना बनी बर्डी के दुकानदारो के लिए परेशानी

नागपुर: नागपुर मेट्रो रेल योजना का कार्य शहर में तेज गति से जारी है। मेट्रो के निर्माण कार्य के लिए कई जगहों से यातायात को बदला गया है। शनिवार को बर्डी के मुंजे चौक से लेकर आनंद टॉकीज की सड़क बंद करने का निर्णय लिया गया है। जिसके लिए तुलसी हिन्दू स्कूल की सड़क को बंद किया गया है। एक साइड बंद होने की वजह से लाइन के दुकानदारों में काफी नाराजगी है। इस लाइन में मोबाइल की करीब 400 दुकान है तो वहीं अन्य दुकान 250 के लगभग हैं। करीब 6 महीने तक यह कार्य चलेगा। दूकान के सामने मेट्रो का काम शुरू होने से और ग्राहकों को दूकान तक पंहुचने की जगह नहीं मिलने से ग्राहक इस लाइन की दुकानों में ना आकर दूसरी दुकानों में जाएंगे। जिसके कारण मेट्रो परियोजना का यहां का काम पूर्ण होने तक इनकी ग्राहकी खराब होगी। उनके साथ ही दूकान पर काम करनेवाले कर्मियों पर भी भूखों मरने की नौबत आएगी। जिसके कारण दुकानदारों ने रोष जताते हुए कहा कि वे मेट्रो परियोजना के निदेशक और पुलिस आयुक्त को निवेदन देकर यह मांग करेंगे की जहां से कार्य शुरू होगा वहां से मार्ग बंद किया जाए बाकी जगहों पर बंद ना किया जाए। दुकानदारों का कहना है कि अगर निवेदन देने के बाद भी मेट्रो परियोजना और यातायात विभाग उनकी सुध नहीं लेता है। तो वे धरना प्रदर्शन कर सड़क पर उतरेंगे।

पिछले 60 सालो से चंद्रकांत गव्हाणे जानकी टॉकीज के सामने पानठेला लगाते थे। अब उन्होंने इस जगह पर मोबाइल की दूकान शुरू की है। उनका कहना है मेट्रो परियोजना शहर के विकास में मददगार है। लेकिन इससे दुकानदारों का बिज़नेस मार खाएगा। जिन दुकानदारों पर कर्ज है। जिनको कर्ज देना है। जिन्हें अपने कर्मियों को वेतन देना पड़ता है। उनपर मुसीबत आएगी। उन्होंने कहा कि मेट्रो की ओर से पूरी सड़क बंद न करते हुए थोड़ा-थोड़ा काम किया जाना चाहिए। साथ ही दुपहिया वाहनों के लिए दुकानों तक पहुँचने के लिए थोड़ी जगह छोड़ी जानी चाहिए।
चंद्रकांत गव्हाणे

मोबाइल की दूकान के मालिक वरुण मेहाडिया ने बताया की उन्हें इस बारे में ना तो मेट्रो परियोजना की ओर से कोई नोटिस दिया गया ओर ना ही कुछ समझाया गया। इस परियोजना के कारण निश्चित ही दुकानदारों का नुकसान होगा।
वरुण मेहाडिया

इस लाइन में मोबाइल दूकान के संचालक नरेश खुबनानी ने बताया की मेट्रो की और से आधा रास्ता बंद करना चाहिए था। और कुछ जगहों पर ग्राहकों के लिए मेट्रो की ओर से ही पार्किंग की व्यवस्था करनी चाहिए थी । उन्होंने इसका विरोध करते हुए कहा की अगर यहां से जगह नहीं छोड़ी गई तो वे इसके विरोध में सड़क पर आकर प्रदर्शन करेंगे।
नरेश खुबनानी

इलेक्ट्रिकल दूकान के संचालक दीपक खुराना ने विरोध जताते हुए बताया की मेट्रो परियोजना ने सड़क बंद की है। इसको बंद करने से पहले इन्हें कोई विकल्प तलाशना चाहिए था। उन्होंने बताया की जिस तरह से दिल्ली में मेट्रो परियोजना की शुरुवात रात में की जाती थी.उसी तरीके से नागपुर में भी रात में काम होना चाहिए।
दीपक खुराना


इसी लाइन में साइकिल की दुकान चलानेवाले मुकेश मेहाडिया ने बताया की मेट्रो परियोजना काबिले तारीफ़ है। लेकिन अगर दूकान के सामने जगह नहीं होगी। तो ग्राहक दूकान में नहीं आएंगे। जिससे बिज़नस शत प्रतिशत नुक्सान में रहेगा।
मुकेश मेहाडिया