Published On : Wed, Nov 8th, 2017

होर्डिंग के नाम क़ुर्बान हुआ एयर इंडिया के सामने लगा पेड़!

Advertisement


नागपुर: सिविल लाइन्स के एयर इंडिया कार्यालय परिसर में विज्ञापनवाला एक बड़ा होर्डिंग लगा हुआ है. इसी ऑफिस के कंपाउंड के बाहर एक विशाल पेड़ भी हुआ करता था जिसे तीन माह पहले काट डाला गया. होर्डिंग के सामने चौक के दूसरी तरफ़ से देखने पर समझा जा सकता है कि पेड़ ठीक होर्डिंग के आड़े आता रहा होगा. जुलाई 2017 के पहले हफ्ते में रात के समय अज्ञात लोगों ने बाहर लगे इस बड़े पेड़ को काट दिया था. जिसके बाद शहर की पर्यावरणवादी संस्थाओं ने काफी हंगामा किया था. पेड़ काटने के बारे में ग्रीन विजिल संस्था के सदस्यों ने एयर इंडिया के ऑफिस में जाकर अधिकारियों से चर्चा भी की थी. लेकिन अधिकारियों ने यह कहा था कि इस पेड़ को उन्होंने नहीं काटा है. उनका कहना था कि रात के समय कुछ अज्ञात लोगों ने आकर पेड़ काटा और उनके कार्यालय के गार्ड ने उन्हें रोकने की कोशिश की, लेकिन उन्होंने गार्ड को धमका कर पेड़ काटने का काम जारी रखा. मनपा के उद्यान अधीक्षक की ओर से भी पेड़ काटनेवाले आरोपियों पर कार्रवाई करने की बात कही गई थी. जबकि इस संदर्भ में एयर इंडिया ने पुलिस स्के पास शिकायत भी दर्ज कराई थी. लेकिन मनपा उद्यान अधिकारी पेड़ काटनेवालों का अब तक पता नहीं लगा पाए हैं.


अब होर्डिंग ऐड लगने के बाद अटकले लगाई जा रही हैं कि पेड़ को काटने का उद्देश्य कहीं होर्डिंग तो नहीं था. जिस समय पेड़ काटा गया था तो ग्रीन विजिल के संस्थापक कौस्तुभ चटर्जी ने भी पेड़ काटनेवालों पर सख्त कार्रवाई की मांग की थी और उन्होंने उस दौरान कहा था कि पेड़ को रातों रात काटना बिना उद्देश्य के नहीं हो सकता. क्योंकि पेड़ काटनेवालों ने पेड़ को काटने के बाद वही छोड़ दिया. जबकि उद्देश्य अगर लकडियां होती तो वे पेड़ के टुकड़े करके साथ लेकर जाते. चटर्जी ने कहा था कि अभी यह उद्देश्य भले ही पता न चल पा रहा हो लेकिन कुछ दिनों के बाद पेड़ काटने का उद्देश्य सबके सामने होगा. जुलाई महीने में पेड़ काटा गया था जबकि ऐड अक्टूबर महीने में लगा था, यानी ठीक 3 महीने बाद.


ऐड की बात करें और कटने वाले पेड़ की बात करें तो पेड़ बड़ा होने की वजह से सामने के चौक से पेड़ के कारण ऐड दिख नहीं पाता था. जबकि अब पेड़ नहीं होने की वजह से ऐड सभी को दिखाई दे रहा है. ऐसे ही एक घटना कुछ महीने पहले कॉटन मार्किट में हुई थी. जहां मनपा के पुराने एलबीटी ऑफिस के सामने रातों रात एक पेड़ काटा गया था. लेकिन इसमें भी ख़ास बात यह है कि पेड़ के पीछे एक बड़ा ऐड होर्डिंग था और उस पेड़ के कारण वह ऐड लोगों को नहीं दिख रहा था. उस समय नागपुर टुडे ने यह खबर प्रकाशित की थी और प्रत्यक्षदर्शियों ने यह भी बताया था कि उनकी आखों के सामने रात में अज्ञात लोगों ने पेड़ को काटा. उस समय भी नागपुर मनपा के उद्यान अधिकारियों ने उदासीनता दिखाई थी और पेड़ की कटाई करनेवाले लोगों का पता नहीं लगा पाए थे. अब इस घटना में भी यही हो रहा और मनपा उद्यान विभाग हाथ पर हाथ धरे पेड़ काटनेवालों के आत्मसमर्पण की राह ताक रहा है.

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement