Published On : Tue, May 17th, 2022

क्रश करके ट्रांसपोर्टिंग का काम 7 माह से बंद

Advertisement

– राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस इंटक के राष्ट्रीय संगठन सचिव आबिद हुसैन ने सीबीआई जाँच की मांग की

नागपुर – टेंडर शर्त के अनुसार ठेकेदार कंपनी काम नहीं कर रही,जिसे वेकोलि स्थानीय प्रबंधन संरक्षण दे रहा.जिससे वेकोलि और बिजली घर को बड़ा नुकसान हो रहा,इस मामले कि जांच एजेंसी सीबीआई से करने की मांग राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस इंटक के राष्ट्रीय संगठन सचिव आबिद हुसैन ने की है.

Advertisement

वेकोलि की नार्थ वणी क्षेत्र में का एक और नया प्रकरण सामने आया.स्थानीय उकनी खदान का टेंडर हुआ.टेंडर शर्त के हिसाब से 3 लाख 65 हजार मेट्रिक टन क्रश कोयला वणी रेलवे साइडिंग ले जाना था और 1लाख 20 हजार मेट्रिक टन रोडसेल मिक्स कोल लोड करना था एवं 12 लाख 77 हजार मेट्रिक टन क्रश करना था. कुल टेंडर कि किमत 7 करोड 71 लाख रुपये था.टेंडर पूर्ण करने की अवधी 365 दिन की थी.

उक्त टेंडर मेसर्स MS FUELS कंपनी को 6 करोड़ 85 लाख 37 हजार 472 .71 रुपये में दिया गया था.

तब से आज तक इस टेंडर का जाॅब नम्बर 3 के अनुसार वणी रेलवे साइडिंग 1 हजार मेट्रिक टन कोयला क्रश करके ट्रसंपोटींग करना था जबकि पिछले सात महिने से ये काम बंद है.

आज की परिस्थिति के अनुसार कोयले के आभाव से बिजली निर्माण संकट में पड़ गया हैं.उम्मीद/मांग के अनुरूप कम बिजली निर्माण हो रही हैं.उकनी खदान में कोयला उपलब्ध होने के बावजूद ट्रांसपोर्टिंग नहीं हो पा रही हैं.

इसी टेंडर का पार्ट B के तहत मिक्स कोयला रोडसेल लोडिंग शुरु है लेकिन वणी रेलवे साइडिंग में पावर प्लांट को भेजने का ट्रांसपोर्टिंग बंद है फिलहाल महाप्रबंधक की मिलीभगत से ट्रक वालो से अवैध रूप से कोयला छांट छांट कर दिया जा रहा है जबकि पावर प्लांट को पहले कोयला दिया जाना चाहिए था लेकिन नहीं दिया जा रहा है.उकनी खदान में ठेकेदार और प्रबंधन की सांठगांठ से बड़ी धांधली हो रही ,इस मामले कि जांच एजेंसी सीबीआई से करने की मांग राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस इंटक के राष्ट्रीय संगठन सचिव आबिद हुसैन ने की है.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement