Published On : Fri, Jun 4th, 2021

पेट्रोल-डीजल की बढ़ती हुई कींमतों एवं लाॅकडाउन के कारण आर्थिक चक्रव्युह में डूबता जा रहा व्यापारी: एन.वी.वी.सी.

पेट्रोल-डीजल की बढ़ती हुई कींमतों पर लगाम कसे सरकार: अश्विन मेहाड़िया

विदर्भ के 13 लाख व्यापारियों की अग्रणी व शीर्ष संस्था नाग विदर्भ चेंबर आॅफ काॅमर्स के अध्यक्ष श्री अश्विन मेहाड़िया के नेतृत्व में पदाधिकारियों ने बैनर दिखाकर दिन-प्रतिदिन पेट्रोल-डीजल की बढ़ती हुई कीमतों का तीव्र विरोध दर्शाया।

अध्यक्ष श्री अश्विन मेहाड़िया ने कहा कि एक ओर तो देश का व्यापारी वर्ग एवं आमजनता गत 1) वर्ष से लाॅकडाउन के कारण आर्थिक तंगी का सामना कर रहर है एवं दुसरी ओर रोजाना पेट्रोल-डीजल की बढ़ती हुई कीमतों के कारण उनके व्यापारिक एवं पारिवारिक खर्चो में हो रही बेहिसाब वृद्धि के कारण आर्थिक बोझ के तले दबा जा रहा है। लाॅकडाउन में सार्वजनिक परिवहन के साधन बंद होने के कारण प्रत्येक व्यक्ति को अपने कार्यस्थल पर आने-जाने के लिये निजी वाहनो का उपयोग करना पड़ रहा है।

जिससे दिन-प्रतिदिन बढ़ती हुई पेट्रोल के कीमतों के कारण दैनिक बचत समाप्त होकर आमजनता का बजट बिगड रहा है। डीजल के दामो में वृद्धी होने के कारण माल परिवहन की लागत बढ़ जा रही है। जिससे वस्तुओं की कीमतों में वृद्धी होकर मंहगाई भी बढ़ रही है।

अध्यक्ष श्री अश्विन मेहड़िया एवं सचिव श्री रामअवतार तोतला के साथ चेंबर के पदाधिकारियों ने पेट्रोल-डीजल की बढ़ती हुई कीमतों का तीव्र विरोध दर्शाया एवं केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकार से मांग की है कि उन्होंने पेट्रोल एवं डीजल पर लगने वाले टैक्स के अपने-अपने प्रतिशत को कम करना चाहिये। ताकि पेट्रोल एवं डीजल की कींमतों में कमी होकर व्यापारी वर्ग एवं आमजनता को आर्थिक परेशानियों से आंशिक राहत मिलेगी।


इस अवसर पर चेंबर के सर्वश्री – अध्यक्ष – अश्विन मेहाड़िया, उपाध्यक्ष – संजय के. अग्रवाल, सचिव – रामअवतार तोतला, कोषाध्यक्ष – सचिन पुनियानी, सहसचिव – स्वप्निल अहिरकर उपस्थित थे।

उपरोक्त जानकारी प्रेस विज्ञप्ति द्वारा सचिव श्री रामअवतार तोतला ने दी।