Published On : Tue, Dec 2nd, 2014

वर्धा : आदिवासी युवतीपर अत्याचार, आरोपी फरार


पिड़ित युवती दो माह से गर्भवती

वर्धा। दो वर्षो से शादी का झांसा देकर युवती के साथ शारीरिक संबंध बनाए. युवती ने शादी के लिए पूछने पर युवक ने शादी करने से मना कर दिया. इसमें पिड़ित युवती दो माह से गर्भवती है. यह घटना सेलु तालुका के महाबला में घटी. इस घटना की शिकायत सेलु पुलिस स्टेशन में दर्ज की गई है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार सेलु तालुका के महाबला के एक 22 वर्षीय आदिवासी युवती के साथ गांव के ही युवक दीपक राजेंद्र तलवेकर (22) का डेड साल से प्रेमसंबंध शुरू था. उसमें वह युवती दो माह गर्भवती रहने से उसने दीपक को शादी के लिए पूछा. लेकिन दीपक सुवर्ण जात का होने से आदिवासी समाज के लड़की से शादी कैसे करेंगे ऐसा सोचकर उसने युवती को बार-बार शादी करने से मना करने का प्रयास किया.

इस प्रेमप्रकरण की गांव में चर्चा शुरू होते ही, अपनी समाज बदनामी होगी इस वजह से उसने यह बात अपने माता-पिता को बताई. पिड़िता के माता-पिता ने गांव के कुछ प्रतिष्ठित नागरिकों के साथ शादी के लिए बात करने के लिए युवक के घर गए. लेकिन अपने बेटे की करणी छुपाने के लिए युवक के माता-पिता ने शादी के लिए मना करके पिड़ित युवती के माता-पिता को वहा से भगा दिया. इस वजह से पिड़ित युवती समेत माता-पिता ने सेलु पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज की. पुलिस स्टेशन में पिड़ित युवतीने आपबीती बताई. पुलिस ने युवती को जाँच के लिए ग्रामीण रूग्णालय सेलु में दाखिल किया व मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने आरोपी दीपक राजेंद्र तलवेकर के खिलाफ भादंवि की धारा 376 आरडब्ल्यू 3 (1), (12) अनुसुचित जाती जमाती कायदा अंतर्गत मामला दर्ज किया है. खबर लिखे जाने तक आरोपी पुलिस की पकड़ से बाहर बताया जा रहा है. आगे की जाँच सेलु पुलिस कर रही है.

Representational Pic

Representational Pic