Published On : Mon, Jul 16th, 2018

शौचालय नहीं होने से ‘वॉकिंग’ करने वाले परेशान

नागपुर: क्लीन और ग्रीन सिटी वाले वीआईपी रोड पर रामगिरी मुख्यमंत्री निवास से लेकर लेडीज क्लब के बीच में एक भी शौचालय नहीं होने से वॉकिंग करने वाले लोगों को कई तकलीफों का सामना करना पड़ रहा है. सिविल लाइंस में बड़े-बड़े वीआईपी लोगों के बंगले हैं, लेकिन इस क्षेत्र में एक भी शौचालय नहीं बनाया गया है. रोज सुबह और शाम को यहां घूमने आने वालों के लिए इसकी कमी बहुत अधिक खल रही है. शौचालय नहीं होने से गंदगी फैलती जा रही है.

वॉकिंग करने आने वालों के अनुसार यहां पर एक शौचालय की सुविधा होना बहुत जरूरी है. नागपुर जहां स्मार्ट होते जा रहा है, वहीं इतने ज्यादा साफ-सुथरे स्थान में इस तरह की सुविधा न होना प्रशासन की उदासीनता को दर्शाता है. प्रशासन को इसका ध्यान रखते हुए यहां पर एक शौचालय का निर्माण कर वॉकिंग करने वालों को राहत देनी चाहिए.

रखे जाने चाहिए मोबाइल टॉयलेट
इस क्षेत्र में रोज सुबह और शाम को हजारों लोग वॉकिंग करने आते हैं. यहां लोगों को हरियाली जैसी सुविधा तो मिल जाती है, लेकिन शौचालय की कमी खलती है. वर्तमान में यहां बड़े-बड़े अधिकारियों के बंगले हैं. इतना साफ-सुथरा एरिया होने के बाद इस तरह की सुविधा नदारद है. यह सुविधा नहीं होने के चलते लोग कहीं पर भी गंदगी करते नजर आ जाते हैं.

प्रशासन जहां स्वच्छ और स्मार्ट नागपुर को लेकर काम कर रहा है, तो इस तरफ भी ध्यान देते हुए रामगिरी से लेडीज क्लब के बीच में एक शौचालय तुरंत बनवाना चाहिए. नागरिकों के अनुसार जिस तरह शहर के कई स्थानों पर मोबाइल बाथरूम और शौचालय की सुविधा की गई है, उसी तरह की सुविधा यहां पर भी की जा सकती है. इससे लोगों की परेशानी कम होगी और क्षेत्र गंदा होने से भी बचेगा.

परिसर को गंदा होने से बचाये प्रशासन
वॉकिंग करने वाले कुक्कू मारवाह, राजेश ठाकुर, मसंद, टोनी जग्गी, मुन्ना दीक्षित सहित अन्य का कहना हैं कि प्रशासन को इस तरह की सुविधा यहां पर शीघ्र ही करनी चाहिए. यहीं पर पुलिस का जिमखाना है, लेकिन वहां पर सुरक्षा के कारणों से प्रवेश नहीं दिया जाता. इसके चलते और कोई चारा नहीं बचता.

घूमने आने वाली महिलाओं को बहुत अधिक दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. प्रशासन को देरी न करते हुए इस परिसर में एक अच्छा शौचालय या मोबाइल टॉयलेट की सुविधा करनी चाहिए. इससे लोगों को राहत मिलेगी और परिसर भी गंदा होने से बचेगा. शौचालय की साफ-सफाई का भी पूरा ध्यान प्रशासन को देना होगा, जिससे गंदगी होने से बचेगी.